रेलवे ने पहली बार बनाया ये नया रिकॉर्ड! यात्रियों को मिला सबसे बड़ा फायदा



 उत्तर पश्चिम रेलवे ने वित्तीय वर्ष 2021-22 में सितंबर माह तक 13.36 मिलियन टन माल लोड करके पिछले साल की इसी अवधि में किये गए लोडिंग 8.53 मिलियन टन से 56% से अधिक बढ़ोतरी कर भारतीय रेलवे पर प्रथम स्थान प्राप्त किया है. उत्तर पश्चिम रेलवे पर सीमेंट, क्लिंकर, खाद्यान्न, पेट्रोलियम, कन्टेनर सहित अन्य प्रमुख कमोडिटी का परिवहन किया जाता है. इसी के साथ उत्तर पश्चिम रेलवे ने इस वित्तीय वर्ष में सितम्बर माह तक समयपालनता ( Punctuality) 98.66% प्राप्त की है, जो कि समस्त रेलों मे सर्वाधिक है.


मेल/एक्सप्रेस गाड़ियों की समयपालनता में सम्पूर्ण भारतीय रेलवे में प्रथम स्थान

उत्तर पश्चिम रेलवे ने मेल/एक्सप्रेस की सितम्बर माह तक समयपालनता (Punctuality) 98.66% प्राप्त की है, जो भारतीय रेलवे के समस्त रेलों में सबसे अधिक है. पिछले साल की इसी अवधि में भी उत्तर पश्चिम रेलवे समयपालनता में प्रथम स्थान पर था.

लेफ्टिनेंट शशि किरण ने बताया कि उत्तर पश्चिम रेलवे कि यह उपलब्धि महाप्रबन्धक विजय शर्मा के कुशल निर्देशन एवं प्रमुख मुख्य परिचालन प्रबन्धक रवीन्द्र गोयल के मार्गदर्शन से सम्भव हो पाई है. उत्तर पश्चिम रेलवे पर लदान आय बढ़ाने के लिए किए गए प्रयासों के तहत खेमली, बांगड़ ग्राम, अनूपगढ़, अलवर, गोटन, कनकपुरा, थेयात हमीरा, भगत की कोठी, गोटन स्टेशनों पर नई मदों की लोडिंग प्रारंभ की गई है. उत्तर पश्चिम रेलवे द्वारा अपनी सर्वांगीण क्षमता और प्रदर्शन में सुधार करके यह उपलब्धि प्राप्त की है.


माल लदान में सर्वाधिक 56 फीसदी से अधिक की बढ़ोतरी

उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण के अनुसार चालू वित्त वर्ष 2021-22 में सितम्बर माह तक 13.36 मिलियन टन का प्रारंभिक लदान कर 1541.69 करोड़ का राजस्व अर्जित किया है, जो 2020-21 की इसी अवधि में 8.5 मीट्रिक टन लदान से प्राप्त राजस्व 999.4 करोड़ से क्रमशः माल लदान में 56.62 फीसदी एवं राजस्व में 54.26 फीसदी अधिक है. उल्लेखनीय है कि रेलवे बोर्ड ने उत्तर पश्चिम रेलवे के पिछले साल के माल लदान के प्रदर्शन को देखते हुए इस साल अधिक लदान का लक्ष्य तय किया गया है. उत्तर पश्चिम रेलवे ने वर्ष 2020-21 में 22.24 मिलियन टन माल लदान किया तथा इस वित्तीय वर्ष में रेलवे बोर्ड ने 26.50 मिलियन टन का लक्ष्य रखा है.


किनको मिल रही छूट

रेलवे माल यातायात को अधिक आकर्षक बनाने के लिए रेलवे कई रियायतें और छूट भी दे रही है. जोन में व्यवसाय विकास इकाइयों (BDU) को मजबूत बनाने, उद्योगों और लॉजिस्टिक सेवाएं देने वाले ग्राहकों से निरंतर संवाद और तेज गति आदि से भारतीय रेल का माल ढुलाई तन्त्र काफी तेजी से विकसित हो रहा है. ताकि किसी भी तरह की परेशानी उद्यमियों को ना हो सके और रेलवे अपने लक्ष्य को भी आसानी से पा सके.

ये खबरें भी पढ़ें

  • रेलवे ने रातों रात लिया बड़ा फैसला, आज से 8 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों का परिचालन शुरू
  • Punjab, Ludhiana, Jalandhar, Amritsar, Patiala, Sangrur, Gurdaspur, Pathankot, Hoshiarpur, Tarn Taran, Firozpur, Fatehgarh Sahib, Faridkot, Moga, Bathinda, Rupnagar, Kapurthala, Badnala, Ambala,Uttar Pradesh, Agra, Bareilly, Banaras, Kashi, Lucknow, Moradabad, Kanpur, Varanasi, Gorakhpur, Bihar, Muzaffarpur, East Champaran, Kanpur, Darbhanga, Samastipur, Nalanda, Patna, Muzaffarpur, Jehanabad, Patna, Nalanda, Araria, Arwal, Aurangabad, Katihar, Kishanganj, Kaimur, Khagaria, Gaya, Gopalganj, Jamui, Jehanabad, Nawada, West Champaran, Purnia, East Champaran, Buxar, Banka, Begusarai, Bhagalpur, Bhojpur, Madhubani, Madhepura, Munger, Rohtas, Lakhisarai, Vaishali, Sheohar, Sheikhpura, Samastipur, Saharsa, Saran, Sitamarhi, Siwan, Supaul,Gujarat, Ahmedabad, Vadodara, Surat, Rajkot, Vadodara, Junagadh, Anand, Jamnagar, Gir Somnath, Mehsana, Kutch, Sabarkantha, Amreli, Kheda, Rajkot, Bhavnagar, Aravalli, Dahod, Banaskantha, Gandhinagar, Bhavnagar, Jamnagar, Valsad, Bharuch , Mahisagar, Patan, Gandhinagar, Navsari, Porbandar, Narmada, Surendranagar, Chhota Udaipur, Tapi, Morbi, Botad, Dang, Rajasthan, Jaipur, Alwar, Udaipur, Kota, Jodhpur, Jaisalmer, Sikar, Jhunjhunu, Sri Ganganagar, Barmer, Hanumangarh, Ajmer, Pali, Bharatpur, Bikaner, Churu, Chittorgarh, Rajsamand, Nagaur, Bhilwara, Tonk, Dausa, Dungarpur, Jhalawar, Banswara, Pratapgarh, Sirohi, Bundi, Baran, Sawai Madhopur, Karauli, Dholpur, Jalore,Haryana, Gurugram, Faridabad, Sonipat, Hisar, Ambala, Karnal, Panipat, Rohtak, Rewari, Panchkula, Kurukshetra, Yamunanagar, Sirsa, Mahendragarh, Bhiwani, Jhajjar, Palwal, Fatehabad, Kaithal, Jind, Nuh, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

    Post a Comment

    0 Comments