भारी बारिश के कहर के बाद आईएमडी ने जारी किया नया अलर्ट,लेटेस्ट अपडेट पढ़े

 


भारत के कई राज्यों में फिलहाल बेहद ज्यादा और अभूतपूर्व बारिश से हाल बेहाल हो रहा है। पिछले दो दिनों में बारिश से संबंधित घटनाओं के चलते केरल में 30 और उत्तराखंड में 24 लोगों की जान चली गई है। ऐसा लगता है कि आने वाले दिनों में बारिश से कोई राहत नहीं मिलेगी क्योंकि भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बुधवार से कई क्षेत्रों में भारी बारिश की भविष्यवाणी की है। इसके अलावा केरल के कई जिलों और बांधों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। आइए जानते हैं कल और आने वाले दिनों के लिए मौसम विभाग द्वारा जारी की गई चेतावनी।

केरल के जिलों के लिए कल के लिए ऑरेंज अलर्ट

आईएमडी ने मंगलवार को केरल के 11 जिलों के लिए भारी बारिश का संकेत देते हुए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। मौसम विज्ञान विभाग ने गुरुवार को भी राज्य के 12 जिलों को ऑरेंज अलर्ट पर रखा है। आईएमडी ने 20 अक्टूबर को तिरुवनंतपुरम, पठानमथिट्टा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर, पलक्कड़, मलप्पुरम, कोझीकोड, वायनाड और कन्नूर जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया था। इसके अलावा कन्नूर और कासरगोड को छोड़कर सभी जिलों के लिए 21 अक्टूबर को रेड अलर्ट ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया था। रेड अलर्ट 24 घंटों में 20 सेमी से अधिक की भारी से अत्यधिक भारी बारिश का संकेत देता है, जबकि ऑरेंज अलर्ट 6 सेमी से 20 सेमी तक बहुत भारी बारिश को दर्शाता है। येलो अलर्ट का मतलब है 6 से 11 सेंटीमीटर के बीच भारी बारिश।

केरल में पानी छोड़ने के लिए खोले गए प्रमुख बांध

केरल में बांधों में पानी का स्तर चरम पर है और राज्य के दस से अधिक प्रमुख बांधों के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है। इडुक्की, इदमालयार, पंबा और कक्की, जैसे चार प्रमुख बांध समेत राज्य के कुल 78 बांधों को अतिरिक्त पानी छोड़ने के लिए खोल दिया गया है। इसके अलावा विभिन्न जिला प्रशासन ने निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को अलर्ट जारी किया है और उन्हें राज्य में स्थापित राहत शिविरों में स्थानांतरित कर दिया है।

आईएमडी ने 20 अक्टूबर से 23 अक्टूबर के दौरान दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के लिए बारिश की भविष्यवाणी की है। मौसम विभाग ने बताया कि केरल, माहे और तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में भी 20 अक्टूबर और 21 अक्टूबर को अलग-अलग और बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।



 

आईएमडी ने अपने पूर्वानुमान में कहा कि उत्तराखंड में अगले तीन दिनों के लिए शुष्क मौसम देखा जा सकता है। इसके बाद 22 अक्टूबर से पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र को एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ प्रभावित करे, इस बात की बहुत संभावना है। 22 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद में काफी व्यापक बारिश/हिमपात के साथ बिखरी बारिश की संभावना है। जबकि 23 अक्टूबर को अलग-अलग भारी वर्षा होने की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग ने 22 अक्टूबर और 23 अक्टूबर को हिमाचल प्रदेश में छिटपुट बारिश/हिमपात की भविष्यवाणी की है। जबकि 23 अक्टूबर को उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, उत्तर-पश्चिम राजस्थान में छिटपुट वर्षा देखी जा सकती है।

मौसम विभाग ने कहा कि बिहार और उसके आस-पास के इलाकों में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है, जिसके चलते 20 अक्टूबर तक पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत में भारी बारिश की गतिविधि जारी रहने की संभावना है। 19 अक्टूबर को ओडिशा और झारखंड में, 19 अक्टूबर और 20 अक्टूबर को गंगीय पश्चिम बंगाल और 20 अक्टूबर को बिहार में अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ हल्की से मध्यम वर्षा, भारी बारिश और बिजली गिरने की संभावना है।

मौसम वैज्ञानिक ने यह भी बताया कि 20 अक्टूबर को उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और अरुणाचल प्रदेश में भी भारी वर्षा होने की संभावना है। 19 अक्टूबर को बिहार में, 19 अक्टूबर और 20 अक्टूबर को असम और मेघालय में और इसके अलावा मंगलवार को उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में भी बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।

ये खबरें भी पढ़ें

  • रेलवे ने रातों रात लिया बड़ा फैसला, आज से 8 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों का परिचालन शुरू
  • Punjab, Ludhiana, Jalandhar, Amritsar, Patiala, Sangrur, Gurdaspur, Pathankot, Hoshiarpur, Tarn Taran, Firozpur, Fatehgarh Sahib, Faridkot, Moga, Bathinda, Rupnagar, Kapurthala, Badnala, Ambala,Uttar Pradesh, Agra, Bareilly, Banaras, Kashi, Lucknow, Moradabad, Kanpur, Varanasi, Gorakhpur, Bihar, Muzaffarpur, East Champaran, Kanpur, Darbhanga, Samastipur, Nalanda, Patna, Muzaffarpur, Jehanabad, Patna, Nalanda, Araria, Arwal, Aurangabad, Katihar, Kishanganj, Kaimur, Khagaria, Gaya, Gopalganj, Jamui, Jehanabad, Nawada, West Champaran, Purnia, East Champaran, Buxar, Banka, Begusarai, Bhagalpur, Bhojpur, Madhubani, Madhepura, Munger, Rohtas, Lakhisarai, Vaishali, Sheohar, Sheikhpura, Samastipur, Saharsa, Saran, Sitamarhi, Siwan, Supaul,Gujarat, Ahmedabad, Vadodara, Surat, Rajkot, Vadodara, Junagadh, Anand, Jamnagar, Gir Somnath, Mehsana, Kutch, Sabarkantha, Amreli, Kheda, Rajkot, Bhavnagar, Aravalli, Dahod, Banaskantha, Gandhinagar, Bhavnagar, Jamnagar, Valsad, Bharuch , Mahisagar, Patan, Gandhinagar, Navsari, Porbandar, Narmada, Surendranagar, Chhota Udaipur, Tapi, Morbi, Botad, Dang, Rajasthan, Jaipur, Alwar, Udaipur, Kota, Jodhpur, Jaisalmer, Sikar, Jhunjhunu, Sri Ganganagar, Barmer, Hanumangarh, Ajmer, Pali, Bharatpur, Bikaner, Churu, Chittorgarh, Rajsamand, Nagaur, Bhilwara, Tonk, Dausa, Dungarpur, Jhalawar, Banswara, Pratapgarh, Sirohi, Bundi, Baran, Sawai Madhopur, Karauli, Dholpur, Jalore,Haryana, Gurugram, Faridabad, Sonipat, Hisar, Ambala, Karnal, Panipat, Rohtak, Rewari, Panchkula, Kurukshetra, Yamunanagar, Sirsa, Mahendragarh, Bhiwani, Jhajjar, Palwal, Fatehabad, Kaithal, Jind, Nuh, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

    Post a Comment

    0 Comments