Petrol Diesel : इस फैसले से कम हो सकते हैं कच्चे तेल के दाम, जानिए भारत में कब से सस्ता होगा पेट्रोल-डीजल

Petrol Diesel : इस फैसले से कम हो सकते हैं कच्चे तेल के दाम, जानिए भारत में कब से सस्ता होगा पेट्रोल-डीजल



कोरोना वायरस महामारी के मामले कम होने से एक बार फिर से दुनिया में सबकुछ धीरे-धीरे पटरी पर लौट रहा है. ऐसे में विश्व में कच्चे तेल की मांग बढ़ी है. इसका कीमतों पर भी देखने को मिल रहा है. तेल निर्यातक देशों के संगठन (OPEC) और रूस की अगुवाई में सहयोगी देशों ने बुधवार को धीरे-धीरे उत्पादन बढ़ाने को लेकर सहमति जताई. इसका कारण कोरोना वायरस महामारी से प्रभावित वैश्विक अर्थव्यवस्था में पुनरूद्धार और ईंधन मांग में तेजी आना है. तेल निर्यातक देशों के संगठन तथा सहयोगी देशों को ओपेक प्लस के नाम से जाना जाता है.

समूह ने ‘ऑनलाइन ’ बैठक में एक अक्टूबर से प्रतिदिन 4,00,000 बैरल तेल उत्पादन जोड़ने की पहले की योजना पर सहमति जताई. ओपेक और सहयोगी देशों ने पिछले साल ‘लॉकडाउन’ और यात्रा पाबंदियों के कारण ईंधन की मांग में कमी को देखते हुए उत्पादन में कटौती की थी. वे अब धीरे-धीरे उत्पादन में कटौती को समाप्त कर रहे हैं.

कीमतों में हो सकती है कटौती

उत्पादन बढ़ेगा तो डिमांड पूरी होगी और इसका इसर कच्चे तेल की कीमतों पर भी दिख सकता है और दाम में गिरावट आ सकती है. बैठक से पहले तेल की कीमत में नरमी रही. तेल की कीमत न्यूयार्क मर्केन्टाइल एक्सचेंज में 1.6 प्रतिशत घटकर 67.40 डॉलर प्रति बैरल रही. वहीं, वैश्विक मानक ब्रेंट क्रूड 1.4 प्रतिशत घटकर 70.67 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया.


जुलाई में उत्पादन की कटौती पर बनी थी सहमति

ओपेक और सहयोगी देशों ने जुलाई में यह योजना बनाई थी कि जब तक पिछले साल के उत्पादन की कटैाती पूरी नहीं हो जाती है तब तक वह हर महीने चार लाख बैरल प्रतिदिन उत्पादन को बढ़ाएगी. समूह हर महीने बैठक कर बाजार और उत्पादन के स्तर पर नजर रख रहा है. दुनिया के देशों में कोरोना वायरस के डेल्टा स्वरूप पर उसकी नजर है कि क्या यह फिर से आर्थिक गतिविधियों को कमजोर करेगा.

पिछली बैठक में लिया गया था यह फैसला

इससे पहले जुलाई के महीने में हुई बैठक में ओपेक देशों ने कहा था कि अगस्त से उसके उत्पादन में हर माह दैनिक 4,00,000 बैरल की बढ़ोतरी की जाएगी. इस तरह इस समय लागू 58 लाख बैरल/दैनिक की कटौती धीरे धीरे 2022 के अंत तक समाप्त हो जाएगी. ओपेक और रूस जैसे उसके सहयोगियों ने 2020 में कच्चे तेल के दैनिक उत्पादन में एक करोड़ बैरल की रिकार्ड कटौती की सहमति बनाई थी. ताकि दाम चढ़ सके.

उसके बाद धीरे धीरे 42 लाख बैरल उत्पादन बढ़ा कर कटौती हल्की कर दी गई. अभी 58 लाख बैरल / दैनिक की कटौती लागू है. जिसे खत्म करने के लिए बीते दिन सहमति बनी है.

ये खबरें भी पढ़ें

  • रेलवे ने रातों रात लिया बड़ा फैसला, आज से 8 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों का परिचालन शुरू
  • Punjab, Ludhiana, Jalandhar, Amritsar, Patiala, Sangrur, Gurdaspur, Pathankot, Hoshiarpur, Tarn Taran, Firozpur, Fatehgarh Sahib, Faridkot, Moga, Bathinda, Rupnagar, Kapurthala, Badnala, Ambala,Uttar Pradesh, Agra, Bareilly, Banaras, Kashi, Lucknow, Moradabad, Kanpur, Varanasi, Gorakhpur, Bihar, Muzaffarpur, East Champaran, Kanpur, Darbhanga, Samastipur, Nalanda, Patna, Muzaffarpur, Jehanabad, Patna, Nalanda, Araria, Arwal, Aurangabad, Katihar, Kishanganj, Kaimur, Khagaria, Gaya, Gopalganj, Jamui, Jehanabad, Nawada, West Champaran, Purnia, East Champaran, Buxar, Banka, Begusarai, Bhagalpur, Bhojpur, Madhubani, Madhepura, Munger, Rohtas, Lakhisarai, Vaishali, Sheohar, Sheikhpura, Samastipur, Saharsa, Saran, Sitamarhi, Siwan, Supaul,Gujarat, Ahmedabad, Vadodara, Surat, Rajkot, Vadodara, Junagadh, Anand, Jamnagar, Gir Somnath, Mehsana, Kutch, Sabarkantha, Amreli, Kheda, Rajkot, Bhavnagar, Aravalli, Dahod, Banaskantha, Gandhinagar, Bhavnagar, Jamnagar, Valsad, Bharuch , Mahisagar, Patan, Gandhinagar, Navsari, Porbandar, Narmada, Surendranagar, Chhota Udaipur, Tapi, Morbi, Botad, Dang, Rajasthan, Jaipur, Alwar, Udaipur, Kota, Jodhpur, Jaisalmer, Sikar, Jhunjhunu, Sri Ganganagar, Barmer, Hanumangarh, Ajmer, Pali, Bharatpur, Bikaner, Churu, Chittorgarh, Rajsamand, Nagaur, Bhilwara, Tonk, Dausa, Dungarpur, Jhalawar, Banswara, Pratapgarh, Sirohi, Bundi, Baran, Sawai Madhopur, Karauli, Dholpur, Jalore,Haryana, Gurugram, Faridabad, Sonipat, Hisar, Ambala, Karnal, Panipat, Rohtak, Rewari, Panchkula, Kurukshetra, Yamunanagar, Sirsa, Mahendragarh, Bhiwani, Jhajjar, Palwal, Fatehabad, Kaithal, Jind, Nuh, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

    Post a Comment

    0 Comments