Cyclone Gulab Latest Updates: उत्तरी आंध्र प्रदेश में कमजोर होकर गहरे दबाव में बदला तूफान ‘गुलाब’, पढ़ें कहां कितना हुआ नुकसान

Cyclone Gulab Latest Updates: उत्तरी आंध्र प्रदेश में कमजोर होकर गहरे दबाव में बदला तूफान ‘गुलाब’, पढ़ें कहां कितना हुआ नुकसान


 बंगाल की खाड़ी में बन रहे कम दबाव की वजह से चक्रवात तूफान ‘गुलाब’ (Cyclonic Storm Gulab) को लेकर आंध्र प्रदेश (Andra Pradesh) और ओडिशा (Odisha) में अलर्ट जारी किया गया है. भारत मौसम विभाग (IMD) ने बताया कि उत्तरी आंध्र प्रदेश और उससे सटे दक्षिण ओडिशा के ऊपर चक्रवाती तूफान आज दोपहर 2:30 बजे उत्तरी आंध्र प्रदेश में कमजोर होकर एक गहरे दबाव में बदल गया. इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ते रहने और अगले 6 घंटों के दौरान इसके कमजोर होकर डिप्रेशन में बदलने की संभावना है.


तूफान ‘गुलाब’ को लेकर विशाखापट्टनम में डॉपलर वेदर रडार द्वारा चक्रवात गुलाब की निगरानी की जा रही है. आंध्र प्रदेश के उत्तरी तटीय जिले श्रीकाकुलम से बंगाल की खाड़ी में गए 6 मुछआरों के रविवार शाम को लापता होने की जानकारी मिली है. गुलाब तूफान की वजह से आंध्र प्रदेश के तीन तटीय जिलों विशाखापत्तनम, विजयनगरम और श्रीकाकुलम में मध्यम बारिश हो रही है.

चक्रवात की पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ते रहने और अगले 6 घंटों के दौरान इसके कमजोर होकर डिप्रेशन में बदलने की संभावना है.

रांची मौसम विज्ञान केंद्र (Ranchi Meteorological Center) ने झारखंड (Jharkhand) के दक्षिणी और मध्‍य जिलों में बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया है. बताया जा रहा है कि बंगाल की खाड़ी में एक और निम्‍न दबाव का क्षेत्र बन रहा है. इसके प्रभाव से झारखंड में भी 29 और 30 सितंबर को मूसलाधार बारिश होने की संभावना है.

आईएमडी (IMD) ने कहा कि खराब मौसम की वजह से समुद्र में स्थिति खराब है. उन्होंने चेतावनी दी कि मछुआरे अगली सूचना तक मछली पकड़ने के लिए समुद्र में नहीं जाएं.

‘कमजोर होकर एक गहरे दबाव में बदल जाएगा तूफान’

भुवनेश्वर मौसम विभाग के निदेशक एचआर बिस्वास ने बताया था कि चक्रवाती तूफान गुलाब कलिंगपट्टनम (आंध्र प्रदेश में) से 20 किमी उत्तर में पार कर गया है. यह लगभग आधी रात को ओडिशा के कोरापुट जिले में प्रवेश करेगा और अगले छह घंटों में कमजोर होकर एक गहरे दबाव में बदल जाएगा. बीते दिन शाम लगभग 6 बजे लैंडफॉल की प्रक्रिया शुरू हुई थी और ये अगले 2-3 घंटों तक उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश और उससे सटे दक्षिण तटीय ओडिशा में जारी रही.


PM मोदी ने दिया हरसंभव मदद का आश्वासन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने ओडिशा में चक्रवात गुलाब की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक (Chief Minister Naveen Patnaik) से बात की थी. उन्होंने प्राकृतिक आपदा से निपटने में हरसंभव मदद का आश्वासन दिया और सभी लोगों की सुरक्षा की कामना की.

Post a Comment

0 Comments