चार लाख परिवारों को चाहिए 89 हजार टन चावल, उपलब्ध सिर्फ 36 हजार टन

 

चार लाख परिवारों को चाहिए 89 हजार टन चावल, उपलब्ध सिर्फ 36 हजार टन


छत्तीसगढ़ स्टेट सिविल सप्लाई कार्पोरेशन लिमिटेड की रायपुर के बड़े अधिकारियों को चावल के संदर्भ में लिखी एक चिट्ठी आम लोगों को परेशान करने वाली है। जिले में 89 हजार टन चावल की जरूरत है। फिलहाल नागरिक आपूर्ति निगम के गोदामों में 36 हजार टन चावल उपलब्ध है।


शासकीय उचित मूल्य की दुकानों में हर महीने 19 हजार टन की सप्लाई की जा रही इसलिए आने वाले दो महीने में चावल का स्टाक खत्म होने वाला है। चूंकि चावल के उपार्जन की गति बेहद धीमी है, इसलिए इस परेशानी का आना तय माना जा रहा है। इसके ही संदर्भ में बिलासपुर के जिला प्रबंधक ने रायपुर के मैनेजर को इसकी जानकारी देते हुए जल्द ही चावल आपूर्ति करने की बात लिखी है। ऐसा नहीं होने पर जिला प्रबंधक ने भी समस्या होने की बात लिखी है। खाद्य विभाग के डेटा के मुताबिक बिलासपुर जिले में चार लाख 67 हजार राशनकार्ड धारक हैं।


यह कैटेगरी एपीएल और बीपीएल दोनों को मिलाकर तैयार की गई है। सरकार की ओर से इन्हीं कार्डधारियों को हर महीने चावल उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी नागरिक आपूर्ति निगम और फूड डिपार्टमेंट की है। नागरिक आपूर्ति निगम अपने गोदामों में थोक में चावल का भंडारण करवाता है, जिसे शासकीय उचित मूल्य की चलित दुकानों के जरिए कार्डधारकों तक पहुंचाया जा रहा। यह सिलसिला हर महीने चलता है। छत्तीसगढ़ स्टेट सिविल सप्लाई कार्पोरेशन ने जो पत्राचार किया है वह इसके ही संदर्भ में है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली योजना में चावल का हवाला देकर रायपुर के अधिकारियों को बताया है कि इसके उपार्जन की गति धीमी चल रही है। फिलहाल जितना चावल चाहिए उतना गोदामों में भंडारण नहीं किया गया है। इसके कारण ही आने वाले दो महीनों में चावल सप्लाई को लेकर समस्या आ सकती है। उन्होंने जिले के लिए साल 2022 तक 89 हजार 403 टन चावल उपलब्ध कराने की मांग की है। अभी तक रायपुर के अधिकारियों ने इसके संदर्भ में कोई जवाब नहीं भेजा है। इसके कारण ही चावल सप्लाई को लेकर दिक्कतें आनी शुरू हो गई हैं।


जिला प्रबंधक ने लिखी है सात चिटि्ठयां, कोई जवाब नहीं छत्तीसगढ़ स्टेट सिविल सप्लाई कार्पोरेशन लिमिटेड के जिला प्रबंधक ने चावल की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिए सात चिट्ठियां लिखी हैं। यह पत्र 2, 10, 21, 23, 25 अगस्त को लिखी गई है। आखिरी बार 28 अगस्त को इसे लेकर बिलासपुर के अधिकारियों ने बड़े अधिकारियों को सूचित किया है। इसमें ही उन्होंने माह नवंबर दिसंबर के लिए प्राप्त आवंटन, भंडारण में कठिनाई की स्थिति का आना स्पष्ट कर दिया है।

नान के इन गोदामों से 641 दुकानों में सप्लाई हो रहा चावल नागरिक आपूर्ति निगम का गोदाम बिलासपुर में लिंगियाडीह, सैदा, तखतपुर, जयराम नगर, और कोटा में स्थित है। यहां ही शासन से मिलने वाले चावल का भंडारण किया जा रहा है। इन्हें जिले के 641 शासकीय उचित मूल्य की दुकानों में भेजा जाता है। हर महीने राशन कार्ड धारक यहां से ही सरकारी कोटे के अनुरूप चावल खरीद रहे हैं। अभी नौ दुकानें बढ़ाई गई हैं, लेकिन उन दुकानों से चावल का आवंटन होना शुरू नहीं हुआ है। अफसरों का कहना है कि एक या दो महीने में यह काम शुरू हो सकता है।

मिलर्स से कस्टम मिलिंग के जरिए चावल लेंगे, परेशानी नहीं फिलहाल हमारे पास चावल का एक महीने का भंडारण रखा हुआ है। हम इस बात की पूरी कोशिश कर रहे हैं कि मिलर्स से कस्टम मिलिंग के जरिए तय वक्त पहले चावल ले लें। यदि यह काम होगा तो लोगों को परेशानी नहीं होगी। चावल उपार्जन की गति बिल्कुल ठीक चल रही है। किसी तरह की कोई बात नहीं है। -हिचकिएल मसीह, जिला खाद्य नियंत्रक, बिलासपुर

ये खबरें भी पढ़ें

  • रेलवे ने रातों रात लिया बड़ा फैसला, आज से 8 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों का परिचालन शुरू
  • Punjab, Ludhiana, Jalandhar, Amritsar, Patiala, Sangrur, Gurdaspur, Pathankot, Hoshiarpur, Tarn Taran, Firozpur, Fatehgarh Sahib, Faridkot, Moga, Bathinda, Rupnagar, Kapurthala, Badnala, Ambala,Uttar Pradesh, Agra, Bareilly, Banaras, Kashi, Lucknow, Moradabad, Kanpur, Varanasi, Gorakhpur, Bihar, Muzaffarpur, East Champaran, Kanpur, Darbhanga, Samastipur, Nalanda, Patna, Muzaffarpur, Jehanabad, Patna, Nalanda, Araria, Arwal, Aurangabad, Katihar, Kishanganj, Kaimur, Khagaria, Gaya, Gopalganj, Jamui, Jehanabad, Nawada, West Champaran, Purnia, East Champaran, Buxar, Banka, Begusarai, Bhagalpur, Bhojpur, Madhubani, Madhepura, Munger, Rohtas, Lakhisarai, Vaishali, Sheohar, Sheikhpura, Samastipur, Saharsa, Saran, Sitamarhi, Siwan, Supaul,Gujarat, Ahmedabad, Vadodara, Surat, Rajkot, Vadodara, Junagadh, Anand, Jamnagar, Gir Somnath, Mehsana, Kutch, Sabarkantha, Amreli, Kheda, Rajkot, Bhavnagar, Aravalli, Dahod, Banaskantha, Gandhinagar, Bhavnagar, Jamnagar, Valsad, Bharuch , Mahisagar, Patan, Gandhinagar, Navsari, Porbandar, Narmada, Surendranagar, Chhota Udaipur, Tapi, Morbi, Botad, Dang, Rajasthan, Jaipur, Alwar, Udaipur, Kota, Jodhpur, Jaisalmer, Sikar, Jhunjhunu, Sri Ganganagar, Barmer, Hanumangarh, Ajmer, Pali, Bharatpur, Bikaner, Churu, Chittorgarh, Rajsamand, Nagaur, Bhilwara, Tonk, Dausa, Dungarpur, Jhalawar, Banswara, Pratapgarh, Sirohi, Bundi, Baran, Sawai Madhopur, Karauli, Dholpur, Jalore,Haryana, Gurugram, Faridabad, Sonipat, Hisar, Ambala, Karnal, Panipat, Rohtak, Rewari, Panchkula, Kurukshetra, Yamunanagar, Sirsa, Mahendragarh, Bhiwani, Jhajjar, Palwal, Fatehabad, Kaithal, Jind, Nuh, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

    Post a Comment

    0 Comments