दिल को दुरुस्त रखेगी रोजाना तीन कप कॉफी,अध्ययन में दावा

दिल को दुरुस्त रखेगी रोजाना तीन कप कॉफी,अध्ययन में दावा


एक नए अध्ययन में दावा किया गया है कि रोजाना महज तीन कप कॉफी का सेवन करने के दिल की सेहत दुरुस्त रहेगी और हृदय संबंधी बीमारियों से मृत्यु का खतरा कम होगा। बुडापेस्ट के सेमेल्विस विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने यह अध्ययन किया है। 

शोधकर्ताओं ने अध्ययन के दौरान कॉफी पीने की आदतों, दिल के दौरे और स्ट्रोक की घटनाओं के बीच के संबंधों की जांच की। इसमें सामने आया कि कई मायनों में कॉफी का रोजाना सेवन दिल की सेहत के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है।

अपने निष्कर्षों तक पहुंचने के लिए शोधकर्ताओं ने यूके बायोबैंक के डाटा की भी मदद ली। अध्ययन के प्रमुख लेखक और कार्डियोलॉजिस्ट डॉक्टर जुडिट साइमन ने कहा कि निर्धारित मात्रा में रोजाना कॉफी का सेवन करने से न केवल हृदय रोगों बल्कि किसी भी अन्य बीमारी से मौत के खतरे को कम किया जा सकता है। यह अपनी तरह का अब तक का सबसे बड़ा अध्ययन है। 


इस तरह किया गया अध्ययन

जिसमें पाया गया कि जो लोग कॉफी बिल्कुल भी नहीं पीते हैं, उनकी तुलना में मध्यम कॉफी का सेवन करने वाले लोगों में स्ट्रोक का रिस्क 21 प्रतिशत कम हो सकता है।

डॉ साइमन और उनकी टीम ने कुल 4,68,629 वयस्क लोगों पर यह अध्ययन किया। उन्होंने 11 साल की औसत अवधि तक इनके स्वास्थ्य और कॉफी पीने की आदतों का विश्लेषण किया। अध्ययन के दौरान काफी के दैनिक सेवन के आधार पर सभी प्रतिभागियों को तीन समूहों में बांटा गया। इनमें 22 प्रतिशत लोगों का कहना था कि वो नियमित रुप से कॉफी नहीं पीते थे। 58.4 प्रतिशत लोगों ने बताया कि वह प्रतिदिन आधा से तीन कप पीते थे, जबकि 19.5 प्रतिशत तीन कप से अधिक पीते थे। 

चौंकाने वाले परिणाम सामने आए

अध्ययन की शुरुआत में प्रतिभागियों में से किसी में भी हृदय रोग का कोई इतिहास नहीं था। प्रतिभागियों की औसत आयु लगभग 56.2 वर्ष थी। परिणामों में सामने आया कि कॉफी का सेवन नहीं करने वाले प्रतिभागियों की तुलना में रोजाना तीन कप कॉफी पीने वाले प्रतिभागियों में स्ट्रोक का खतरा करीब 21 प्रतिशत कम पाया गया। इसके अलावा विशेष रूप से हृदय रोगों से मृत्यु का जोखिम भी 17 प्रतिशत कम देखा गया।

शोधकर्ताओं ने कहा कि रोजाना तीन कप कॉफी पीने से न केवल हृदय रोगों बचाव हुआ, बल्कि किसी भी प्रकार की गंभीर बीमारी से मृत्यु का जोखिम भी 12 प्रतिशत कम पायागया। अध्ययन के परिणाम यूरोपियन सोसाइटी ऑफ कार्डियोलॉजी के 2021 कांग्रेस में प्रस्तुत किए गए हैं। 


स्ट्रोक को इस तरह समझें 

स्ट्रोक के दो प्रमुख प्रकार हैं। पहला इस्केमिक स्ट्रोक, जिसमें 80 प्रतिशत स्ट्रोक होते हैं। यह तब होता है जब रक्त वाहिका में रुकावट होती है जो रक्त को मस्तिष्क के हिस्से तक पहुंचने से रोकती है। दूसरा हे रक्तस्रावी स्ट्रोक, यह दुर्लभ होता है। इसमें एक रक्त वाहिका फट जाती है, मस्तिष्क के हिस्से में बहुत अधिक रक्त भर जाता है जबकि अन्य क्षेत्रों को पर्याप्त रक्त आपूर्ति से वंचित कर दिया जाता है। इसके लिए आयु, उच्च रक्तचाप, धूम्रपान, मोटापा, गतिहीन जीवन शैली, मधुमेह, अलिंद फिब्रिलेशन, पारिवारिक इतिहास, और पिछले स्ट्रोक का इतिहास सभी जोखिम कारक हैं

ये खबरें भी पढ़ें

  • रेलवे ने रातों रात लिया बड़ा फैसला, आज से 8 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों का परिचालन शुरू
  • Punjab, Ludhiana, Jalandhar, Amritsar, Patiala, Sangrur, Gurdaspur, Pathankot, Hoshiarpur, Tarn Taran, Firozpur, Fatehgarh Sahib, Faridkot, Moga, Bathinda, Rupnagar, Kapurthala, Badnala, Ambala,Uttar Pradesh, Agra, Bareilly, Banaras, Kashi, Lucknow, Moradabad, Kanpur, Varanasi, Gorakhpur, Bihar, Muzaffarpur, East Champaran, Kanpur, Darbhanga, Samastipur, Nalanda, Patna, Muzaffarpur, Jehanabad, Patna, Nalanda, Araria, Arwal, Aurangabad, Katihar, Kishanganj, Kaimur, Khagaria, Gaya, Gopalganj, Jamui, Jehanabad, Nawada, West Champaran, Purnia, East Champaran, Buxar, Banka, Begusarai, Bhagalpur, Bhojpur, Madhubani, Madhepura, Munger, Rohtas, Lakhisarai, Vaishali, Sheohar, Sheikhpura, Samastipur, Saharsa, Saran, Sitamarhi, Siwan, Supaul,Gujarat, Ahmedabad, Vadodara, Surat, Rajkot, Vadodara, Junagadh, Anand, Jamnagar, Gir Somnath, Mehsana, Kutch, Sabarkantha, Amreli, Kheda, Rajkot, Bhavnagar, Aravalli, Dahod, Banaskantha, Gandhinagar, Bhavnagar, Jamnagar, Valsad, Bharuch , Mahisagar, Patan, Gandhinagar, Navsari, Porbandar, Narmada, Surendranagar, Chhota Udaipur, Tapi, Morbi, Botad, Dang, Rajasthan, Jaipur, Alwar, Udaipur, Kota, Jodhpur, Jaisalmer, Sikar, Jhunjhunu, Sri Ganganagar, Barmer, Hanumangarh, Ajmer, Pali, Bharatpur, Bikaner, Churu, Chittorgarh, Rajsamand, Nagaur, Bhilwara, Tonk, Dausa, Dungarpur, Jhalawar, Banswara, Pratapgarh, Sirohi, Bundi, Baran, Sawai Madhopur, Karauli, Dholpur, Jalore,Haryana, Gurugram, Faridabad, Sonipat, Hisar, Ambala, Karnal, Panipat, Rohtak, Rewari, Panchkula, Kurukshetra, Yamunanagar, Sirsa, Mahendragarh, Bhiwani, Jhajjar, Palwal, Fatehabad, Kaithal, Jind, Nuh, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

    Post a Comment

    0 Comments