सिर्फ सर्दी से ही नहीं इन 5 अनजान रीज़न्स से भी फटते हैं आपके होंठ

सिर्फ सर्दी से ही नहीं इन 5 अनजान रीज़न्स से भी फटते हैं आपके होंठ



अक्सर सर्दियां शुरू होते ही त्वचा में रूखापन बढ़ जाता है और होंठ फटने की समस्या शुरू हो जाती है. जिसका आमतौर पर जाना जाने वाला रीज़न ये है कि सर्दियों में हवा रूखी हो जाती है और इसी रूखी हवा का स्पर्श त्वचा की नमी को उड़ा देता है. इसीलिए सर्दियों में लिप बाम, मॉइश्चराइजर, बॉडी लोशन आदि का प्रयोग बढ़ जाता है. लेकिन यह ज़रूरी नहीं है कि होठों के फटने का कारण सिर्फ रूखी हवा ही हो. कई बार होंठ फटने के पीछे कुछ और भी ऐसे कारण होते हैं जिनके बारे में आपको पता ही नही होता. 

1. होठों पर बार-बार जीभ लगाना 

कुछ लोगों की आदत होती है कि वो अपने होठों पर बार-बार जीभ लगाते हैं, ताकि होंठों पर नमी बनी रहे. लेकिन इसका असर उल्टा होता है. होठों पर मुंह की राल लगाने से होंठ नम होने के बजाये उल्टा और रूखे हो जाते हैं. इसके पीछे की वजह ये है कि सलाइवा (थूक) में कुछ खास एंजाइम्स होते हैं, जो खाने को पचाने में मदद करते हैं. आप जब जीभ को होठों पर फिराते हैं, तो सलाइवा आपके होठों पर लग जाता है और इसकी ऊपरी पर्त एंजाइम्स के असर के कारण सूखने लगती है. इसलिए बार-बार होंठ पर जीभ फिराने से सामान्य से कहीं ज़्यादा होंठ फट जाते हैं.


2. डिहाइड्रेशन

होठों के फटने का एक कारण डिहाइड्रेशन भी है. डिहाइड्रेशन यानी शरीर में पानी की कमी. पानी शरीर के लिए कितना जरूरी है ये बाते की जरूरत नहीं. लेकिन फिर भी कई लोग ऐसे होते हैं जो पानी कम पीते हैं. ऐसा नहीं है कि सिर्फ प्यास लगने पर ही पानी पीना चाहिए. शरीर में पानी का लेवल मेनटेन रखने के लिए दिनभर में थोड़ा-थोड़ा पानी पीते रहना ज़रूरी है. आमतौर पर एक दिन में 2 से 3 लीटर पानी हर किसी को पीना चाहिए. कम पानी पीने से डिहाइड्रेशन के अलावा भी कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं.

3. ज्यादा खट्टा खाना 

कुछ लोगों को खट्टी चीजें खाना पसंद होता है. खटास के माले में फल भी इस लिस्ट में आते हैं. ऐसे में जो लोग फल बहुत खाते हैं उन्हें फलों में मौजूद सिट्रिक एसिड की वजह से माउथ ड्राइनेस और होंठ फटने की प्रॉब्लम से जूझना पड़ता है. हालांकि खट्टे फलों में विटामिन सी बहुत अच्छी मात्रा में होता है और विटामिन सी आपकी त्वचा की चमक बढ़ाने और एजिंग रोकने के लिए फायदेमंद माना जाता है. लेकिन इन फलों के एसिडिक नेचर के कारण ये त्वचा को डिहाइड्रेट कर सकते हैं. इसलिए बेहतर होगा कि अगर आप खट्टे फल खाते हैं, तो पानी भी ज़्यादा पिएं, ताकि शरीर में पानी का लेवल सही बना रहे.


4. एल्कोहल पीना 

शराब के शौक़ीन लोग अपने लीवर की चिंता तो नहीं करते कम से कम अपने होठों की ही कर लें. ऐसा इसलिए क्योंकि ज़्यादा एल्कोहल पीने के कारण भी होंठ फट सकते हैं. एल्कोहल शरीर को डिहाइड्रेट करता है, जिसके कारण त्वचा में रूखापन आता है. होंठ काफी सेंसिटिव होते हैं और बोलने, बात करने के दौरान शरीर के अंदर की गर्म हवा के संपर्क में भी लगातार आते हैं, इसलिए होठों की नमी बहुत जल्दी सूखती है. ऐसे में अगर आप एल्कोहल पीते हैं तो आपको होंठ फटने की समस्या हो सकती है.

5. चेलाइटिस

होठों का फटना कोई मामूली बात नहीं है या कोई आम सी दिखने वाली प्रॉब्लम नहीं है. अगर आपके होंठ फटने का कारण ऊपर बताए गए सभी कारणों में से नहीं है तो ये एक सीरियस और डेंजरस स्किन डिजीज हो सकती है, जिसे चेलाइटिस कहते हैं. चेलाइटिस की समस्या होने पर मुंह के कोनों और होठों पर दरारें आ जाती हैं और त्वचा फटने के कारण कई बार खून भी निकलने लगता है. होठों पर सफेद पर्त दिखाई देना, बार-बार छाले निकलना और रूखापन बने रहना इस डिजीज  के सिम्पटम हैं. इस समस्या को नज़रअंदाज़ करने से कई बार इंफेक्शन फैलने का खतरा बन जाता है इसलिए अगर किसी व्यक्ति के होंठ फटने पर घरेलू उपायों से ये ठीक न हो रहा हो, तो डर्मेटोलॉजिस्ट से जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी कांटेक्ट करें.  

Post a Comment

0 Comments