हफ्ते के इन दिनों में बाल और नाख़ून काटना होता है शुभ, धन और सम्मान की होती है प्राप्ति (*!)*

 हिन्दू शास्त्रों के अनुसार हफ्ते में कुछ ऐसे खास दिन होते है, जब नाख़ून और बाल काटना अशुभ माना जाता है. मगर ये बात बहुत कम लोग जानते है, कि ऐसा न करके उन्हें केवल मान प्रतिष्ठा ही नहीं बल्कि धन की प्राप्ति भी हो सकती है. जी हां आपको जान कर हैरानी होगी कि हफ्ते में हर दिन बाल या नाख़ून काटने का अलग ही महत्व होता है या यूँ कहे कि हर दिन का अलग ही प्रभाव होता है. जहाँ हफ्ते के कुछ दिनों में बाल और नाख़ून काटने से आपको समस्याओ का सामना करना पड़ सकता है, वही कुछ दिन ऐसे भी है जब ये काम करने से आपको यश और धन की प्राप्ति हो सकती है. तो चलिए अब आपको बताते है, कि किन दिनों में ये काम करने से आपको लाभ हो सकता है और किस दिन नुकसान हो सकता है.


सबसे पहले अगर सोमवार की बात करे तो इस दिन बाल काटने से आपकी संतान का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है और साथ ही इसका प्रभाव उसकी शिक्षा पर भी पड़ेगा. इसके इलावा इस दिन नाख़ून और बाल काटने से आपके स्वास्थ्य और मानसिकता पर भी बुरा असर पड़ता है. इससे आपका मन अप्रसन्न रहेगा. इसलिए इस दिन ये काम न करे. अब सोमवार के बाद अगर मंगलवार की बात करे तो इस दिन बाल या दाढ़ी कटवाने का सीधा असर आपकी उम्र पर पड़ता है. जी हां इस दिन बाल कटवाने से इंसान की उम्र घटती है. इसके इलावा इस दिन नाख़ून काटने से शरीर में रक्त संबंधी रोग होते है. इसलिए ये कोशिश करे कि इस दिन बाल, नाख़ून और दाढ़ी काटने से बचे.


बरहलाल मंगलवार के बाद बुधवार का दिन आता है. बता दे कि बुधवार को नाख़ून और बाल काटना शुभ माना जाता है. जी हां इस दिन ये काम करने से घर में बरकत बनी रहती है और धन प्राप्ति की सम्भावना भी रहती है. यानि बाल और नाख़ून काटने के लिए ये दिन सबसे शुभ है. इसके बाद वीरवार के दिन की बारी आती है. गौरतलब है, कि वीरवार को बाल काटने से लक्ष्मी जी नाराज हो जाती है. इसके इलावा मान सम्मान पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ता है. बता दे कि इस दिन बाल और नाख़ून काटने से जहाँ बड़े बूढ़ो और गुरुजन से अनबन होने की सम्भावना बनी रहती है, वही दाम्पत्य जीवन में भी तनाव हो सकता है. इसके साथ ही इस दिन नाख़ून काटने से पेट संबंधी रोग भी हो सकते है. इसलिए इस दिन नाख़ून और बाल काटने से जरूर बचे.


अब वीरवार के बाद अगर शुक्रवार की बात करे तो इस दिन को सौंदर्य का दिन माना जाता है. जी हां इस दिन नाख़ून और बाल कटवाने से आपको कई शुभ समाचार मिल सकते है. इसके साथ ही धन और यश में भी वृद्धि होती है. बरहलाल इस दिन आप बिना किसी भय के इस तरह का सजने सवरने का काम कर सकते है. अब अगर शनिवार की बात करे तो शनिवार के दिन ये दोनों काम करना बेहद अशुभ माना जाता है. जी हां इससे व्यक्ति की अकाल मृत्यु तक हो सकती है. इसके इलावा गठिया और कमर दर्द से परेशान लोगो द्वारा इस दिन ये काम करने से उनके रोग में वृद्धि हो सकती है. इसलिए शनिवार को भूल कर भी बाल और नाख़ून न काटे.


बता दे कि रविवार का दिन भी बाल काटने के लिए शुभ नहीं माना जाता. दरअसल इस दिन बाल कटवाने से बुद्धि, धर्म और धन का नाश होता है. इसलिए इस दिन भूल कर भी बाल न कटवाए.

ये खबरें भी पढ़ें

  • रेलवे ने रातों रात लिया बड़ा फैसला, आज से 8 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों का परिचालन शुरू
  • Punjab, Ludhiana, Jalandhar, Amritsar, Patiala, Sangrur, Gurdaspur, Pathankot, Hoshiarpur, Tarn Taran, Firozpur, Fatehgarh Sahib, Faridkot, Moga, Bathinda, Rupnagar, Kapurthala, Badnala, Ambala,Uttar Pradesh, Agra, Bareilly, Banaras, Kashi, Lucknow, Moradabad, Kanpur, Varanasi, Gorakhpur, Bihar, Muzaffarpur, East Champaran, Kanpur, Darbhanga, Samastipur, Nalanda, Patna, Muzaffarpur, Jehanabad, Patna, Nalanda, Araria, Arwal, Aurangabad, Katihar, Kishanganj, Kaimur, Khagaria, Gaya, Gopalganj, Jamui, Jehanabad, Nawada, West Champaran, Purnia, East Champaran, Buxar, Banka, Begusarai, Bhagalpur, Bhojpur, Madhubani, Madhepura, Munger, Rohtas, Lakhisarai, Vaishali, Sheohar, Sheikhpura, Samastipur, Saharsa, Saran, Sitamarhi, Siwan, Supaul,Gujarat, Ahmedabad, Vadodara, Surat, Rajkot, Vadodara, Junagadh, Anand, Jamnagar, Gir Somnath, Mehsana, Kutch, Sabarkantha, Amreli, Kheda, Rajkot, Bhavnagar, Aravalli, Dahod, Banaskantha, Gandhinagar, Bhavnagar, Jamnagar, Valsad, Bharuch , Mahisagar, Patan, Gandhinagar, Navsari, Porbandar, Narmada, Surendranagar, Chhota Udaipur, Tapi, Morbi, Botad, Dang, Rajasthan, Jaipur, Alwar, Udaipur, Kota, Jodhpur, Jaisalmer, Sikar, Jhunjhunu, Sri Ganganagar, Barmer, Hanumangarh, Ajmer, Pali, Bharatpur, Bikaner, Churu, Chittorgarh, Rajsamand, Nagaur, Bhilwara, Tonk, Dausa, Dungarpur, Jhalawar, Banswara, Pratapgarh, Sirohi, Bundi, Baran, Sawai Madhopur, Karauli, Dholpur, Jalore,Haryana, Gurugram, Faridabad, Sonipat, Hisar, Ambala, Karnal, Panipat, Rohtak, Rewari, Panchkula, Kurukshetra, Yamunanagar, Sirsa, Mahendragarh, Bhiwani, Jhajjar, Palwal, Fatehabad, Kaithal, Jind, Nuh, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

    Post a Comment

    0 Comments