आज से 9 जुलाई तक पूरे बिहार में बारिश का अलर्ट, वज्रपात की भी आशंका


 बिहार में मानसून (Monsoon) की बारिश लगातार जारी है. भारी बारिश के कारण नदियां उफान पर हैं. राज्य के कई जिलों में अभी से बाढ़ की आपदा शुरू हो गई है.मौसम विभाग (Weather department) के अनुसार 7 से 9 जुलाई के बीच 11 जिलों कटिहार, बांका, मुंगेर और भागलपुर में भारी बारिश का पूर्वानुमान है. 7-8 जुलाई को सुपौल, पश्चिम चंपारण और पूर्वी चंपारण में बारिश हो सकती है. अररिया, किशनगंज और पूर्णिया में 9 जुलाई को बारिश हो सकती है. इसके साथ ही बिहार के सभी जिलों में यलो अलर्ट जारी कर दिया गया है.


राज्य के सभी जिलों में कभी भी बारिश हो सकती है. पटना, नालंदा, शेखपुरा, नवादा, लखीसराय और बेगूसराय सहित दक्षिण-पूर्व बिहार में भागलपुर, खगड़िया, बांका, जमुई, मुंगेर और खगड़िया के लिए येलो अलर्ट जारी किया है.


इन जिलों में अगले 12 घंटे में गरज के साथ बारिश के आसार हैं. हिमालय की तलहटी से सटे जिलों में भी यह स्थिति बन सकती है.मौसम विभाग के अनुसार, एक अन्य ट्रफ रेखा बिहार से तटीय ओडिशा तक झारखंड होकर जा रही है. इसके प्रभाव से 24 से 48 घंटे में तराई वाले इलाकों में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा हो सकती है. एक दो जगहों पर भारी बारिश हो सकती है. साथ ही दक्षिण-मध्य बिहार और दक्षिण-पूर्व बिहार में वज्रपात, मेघ गर्जन और बारिश की स्थिति बन सकती है.


सेटेलाइट से मिली तस्वीरों से पता लगता है कि पटना सहित पूरे दक्षिण मध्य बिहार और दक्षिण पूर्व बिहार के ऊपर संवहनीय बादल बने हुए हैं. ईन बादलों की वजह से बारिश की संभावना बनी हुई है.वज्रपात और मेघ गर्जन की भी संभावना बनी हुई है. आपदा प्रबंधन विभाग ने भारी बारिश व वज्रपात वाले जिलों में बारिश के दौरान घरों से न निकलने की अपील की है. .मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस महीने में बाढ़ आ जाने से चिंतित हैं.हवाई सर्वेक्षण के बाद उन्होंने कहा कि ऐसा पहलीबार हुआ है जब जून महीने में बाढ़ आई है.

Post a Comment

Previous Post Next Post