Bihar Weather Alert: बिहार के पांच जिलों में भारी बारिश के आसार, बाढ़ जैसे बन सकते हैं हालात

 

बिहार के प्राय: सभी जिलों में बारिश के आसार। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

बिहार में गंडक नदी के तटवर्ती इलाकों में अगले तीन दिनों तक भारी बारिश होने के आसार हैं। भारी बारिश एवं वज्रपात के मद्देनजर मौसम विज्ञान केंद्र ने पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, सारण, सिवान एवं गोपालगंज के लिए रेड अलर्ट जारी कर दिया है। राज्य के शेष जिलों में भी फिलहाल अच्‍छी बारिश के आसार हैं। इन जिलों के लिए आरेंज एवं येलो अलर्ट जारी किया गया है। रेड अलर्ट जारी होने का मतलब काफी अधिक बारिश होना है। इससे बाढ़ जैसे हालात भी पैदा हो सकते हैं। जिन जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी हुआ है, वहां पहले ही काफी बारिश होने से स्थिति बिगड़नी शुरू हो गई है। सीमावर्ती जिलों के गांवों में बाढ़ का पानी आने लगा है। वहीं, मंगलवार को भी राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में अच्छी बारिश रिकार्ड की गई।

मानसून की वजह से हो रही खूब बारिश

पटना मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानी संजय कुमार का कहना है कि वर्तमान में राज्य में मानसून मेहरबान है। प्रदेश के उत्तरी भाग से लेकर बंगाल की खाड़ी तक मानसून के अनुकूल वातावरण बना है। राजधानी में पिछले 36 घंटे में 43 मिमी बारिश रिकार्ड की गई। वहीं, जून में अब तक राजधानी में 111.2 मिमी बारिश दर्ज की गई। सामान्यत: अब तक राजधानी में 57.8 मिमी बारिश होनी चाहिए। राज्य में सर्वाधिक बारिश पश्चिमी चंपारण में हुई है। वहां पर जून में 80 मिमी बारिश सामान्यत: होनी चाहिए, लेकिन अब तक 339 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई है।

हिमालय की तराई में बादल रुककर बरसते हैं

इसी तरह सिवान, गोपालगंज, सारण में भी सामान्य से बहुत ज्यादा बारिश हुई। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि वर्तमान में बंगाल की खाड़ी से आने वाली नमी झारखंड होते हुए उत्तर की ओर बढ़ रही है। नमीयुक्त हवा जब चंपारण के इलाके में आगे बढ़ती है तो हिमालय की तराई में रुकावट पैदा होता है, जिससे भारी बारिश होती है।

Post a Comment

Previous Post Next Post