टेस्ट, ODI और टी 20 मिलाकर सबसे ज्यादा बार 0 पर आउट होने वाले 5 कप्तान





कप्तान टीम का वो सदस्य होता हैं, जिन्हें टीम की सफलता का सबसे अधिक श्रेय जाता हैं लेकिन कई बार कप्तानों के कुछ गलत फैसलों के कारण कई बार टीम अर्श से फर्श पर आ जाती हैं. टीम के साथ-साथ कप्तान का खुद का व्यक्तिगत प्रदर्शन भी काफी मायने रखता हैं.

आज इस लेख में हम किसी टीम नहीं बल्कि अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे बार शून्य पर आउट होने वाले 5 कप्तानों के बारे में जानेगे.

5) ग्रेम स्मिथ- 18

साउथ अफ्रीका के पूर्व महान कप्तान ग्रेम स्मिथ 100+ टेस्ट मैचों में करने वाले इकलौते कप्तान हैं. स्मिथ ने अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट में 109 टेस्ट, 149 वनडे और 27 अन्तराष्ट्रीय टी20 मैचों में कप्तानी की हैं, जिस दौरान वह 18 बार बिना कोई रन बनाये आउट हुए हैं.

4) रिकी पोंटिंग- 18

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग इस सूची में दूसरे स्थान पर हैं. पोंटिंग ने अपन करियर में 77 टेस्ट, 230 वनडे और 17 अन्तराष्ट्रीय टी20 मैचों में कप्तानी की हैं, इस दौरान उन्होंने 220 मैचों में जीत हासिल की हैं लेकिन वे 18 मैचों में 0 के स्कोर पसर आउट हुए हैं.

3) अर्जुन राणातुंगा- 20

श्रीलंका के पूर्व महान कप्तान अर्जुन राणातुंगा इस सूची में तीसरे स्थान पर हैं. राणातुंगा ने टेस्ट में 56 टेस्ट, 193 वनडे मैचों में कप्तानी की हैं, जिस दौरान उन्होंने 1996 में अपनी टीम को वर्ल्ड कप भी जिताया था. लेकिन ये दिग्गज कप्तानी करियर में 20 बार जीरो पर आउट हुआ हैं.

2) महेला जयवर्धने- 20

श्रीलंका के पूर्व दिग्गज महेला जयवर्धने के सफल कप्तान होने के साथ-साथ दमदार बल्लेबाज भी रहे हैं, उन्होंने अपनी टीम करियर के दौरान कुल 186 मैचों में कप्तानी की हैं, इस दौरान उनकी टीम को 101 मैचों में जीती मिली हैं. महेला बतौर कप्तानी 20 बार बिना कोई रन बनाये आउट हैं.

1) स्टेफन फ्लेमिंग- 27

न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान स्टेफन फ्लेमिंग इस अनचाही सूची में टॉप पर हैं. फ्लेमिंग ने कीवी टीम के लिए अन्तराष्ट्रीय स्तर पर कुल 303 मैचों में कप्तानी की हैं, जिस दौरान उनकी टीम कभी कोई बड़ी ट्रॉफी तो नहीं जीत पायी हालाँकि कुल 128 मैचों में जरुर जीत मिली. फ्लेमिंग अपने एक दशक के कप्तानी करियर में कुल 27 बार बिना को रन बनाये आउट हुए हैं.

Post a Comment

Previous Post Next Post