CSK गेंदबाजी कोच बालाजी ने कहा- कोरोना वायरस से उबरना Man vs Wild के एपिसोड से गुजरने जैसा





चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के गेंदबाजी कोच लक्ष्मीपति बालाजी (Laxmipathy Balaji) का कहना है कि कोविड-19 से उबरने का अनुभव Man vs Wild कार्यक्रम के एक एपिसोड जैसा था।

पूर्व क्रिकेटर बालाजी सीएसके टीम के उन सदस्यों में से एक हैं जो इंडियन प्रीमियर लीग के 14वे सीजन के दौरान कोरोना वायरस की चपेट में आ गए थे।

ईएसपीएन क्रिकइंफो से बातचीत में बालाजी ने कहा, “कोविड-19 टेस्ट में पॉजिटिव आने के बाद, जब मैं खुद को सेल्फ आइसोलेट कर रहा था, तो मेरे मन में एक ख्याल आया: कोविड से उबरना, मानसिक और शारीरिक तौर पर Man vs Wild के एक एपिसोड का अनुभव करने जैसा है।” 

बालाजी ने कहा, “2 मई को मुझे थोड़ी कमजोरी महसूस हुई, शरीर में दर्द और हल्का जुकाम। उसी दिन दोपहर को टेस्ट कराया। 3 मई को सुबह मेरा टेस्ट पॉजिटिव आया और मैं हैरान था। मैंने बायो बबल और सुरक्षा घेरे को तोड़ने के लिए कुछ नहीं किया था।”

सीएसके कोच ने कहा, “हम 26 अप्रैल को मुंबई से दिल्ली पहुंचे थे। हमने 28 अप्रैल को होने वाले मैच के लिए अगले ही दिन टेस्ट करवाया था। अगले दिन एक और टेस्ट हुआ। 1 मई को हमने मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैच खेला। इसलिए मुझे विश्वास था कि मेरा इम्यून सिस्टम मजबूत है और कोरोना वायरस के खिलाफ सुरक्षित है।”

बालाजी ने आगे कहा, “अगले दिन 2 मई को हुए टेस्ट में मेरे साथ दो और लोग जिनमें कासी विश्वनाथन और एक सहयोगी स्टाफ शामिल था, पॉजिटिव हुए। ये निश्चित करने के लिए कि ये टेस्ट झूठा है, हमने उसी दिन एक और टेस्ट कराया। मैं दूसरी बार पॉजिटिव आया। जिसके बाद मैं बाकी से सुपर किंग्स स्क्वाड से अलग टीम होटल के दूसरी फ्लोर पर चला गया।”

Post a Comment

Previous Post Next Post