22 साल के इस श्रीलंकाई गेंदबाज ने रचा इतिहास, 144 साल के इतिहास में दूसरी बार हुआ ऐसा कारनामा





बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज प्रवीण जयविक्रमा (Praveen Jayawickrama) की बेहतरीन गेंदबाजी की बदौलत श्रीलंका ने यहां दूसरे टेस्ट मैच के अंतिम दिन सोमवार को बांग्लादेश को 209 रनों से हराकर दो मैचों की टेस्ट सीरीज 1-0 से जीत ली। दोनों टीमों के बीच पहला टेस्ट ड्रॉ रहा था।


अपना डेब्यू टेस्ट खेल रहे 22 साल के जयविक्रमा ने दूसरी पारी में 86 रन देकर पांच विकेट लिए। उन्होंने मैच में 178 रन देकर 11 विकेट अपने नाम किए। उनसे पहले टेस्ट क्रिकेट के 144 साल के इतिहास के इतिहास में एक ही गेंदबाज यह कारनामा कर पाया था।

ऑस्ट्रेलिया के जेसन क्रेजा के बाद दूसरे ऐसे गेंदबाज बन गए हैं, जिन्होंने अपना डेब्यू टेस्ट में 10 विकेट लिए हैं। क्रेजा ने साल 2008 में भारत के खिलाफ नागपुर में खेले गए मुकाबले से टेस्ट डेब्यू करते हुए 12 विकेट चटकाए थे।

इससे पहले श्रीलंका के लिए डेब्यू टेस्ट में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड अकिला धनंजय के नाम था। जिन्होंने 2018 में बांग्लादेश के खिलाफ ढाका में खेल गए अपने डेब्यू टेस्ट मैच में 8 विकेट चटकाए थे।

दो मैच में 428 रन बनाने के लिए कप्तान दिमुथ करुणारत्ने को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया। यह चौथी बार है जब वह टेस्ट में मैन ऑफ द सीरीज रहे हैं। उनके अलावा महान बल्लेबाज कुमार संगाकारा और अरविंद डी सिल्वा ने भी श्रीलंका के लिए 4-4 बार मैन ऑफ द सीरीज खिताब जीता है।

Post a Comment

Previous Post Next Post