आखिर लोग पैर में काला धागा क्यों पहनते है, पूरी खबर पढ़ हो जाएंगे हैरान….



काले धागे को पैर में बांधने की परंपरा हमारे प्राचीन इतिहास से आती है. शास्त्रों के अनुसार, काला धागा पहनने के कई फायदे हैं. विशेष रूप से जब पैर में बांधा जाता है, पैर में काला धागा बांधने से यह मनुष्य के जीवन में अद्भुत बदलाव लाता है. आज भी, जब किसी के घर में बच्चा पैदा होता है, तो उसके पैरों में काला धागा बांधने का रिवाज है. लोगों का मानना है कि इसे पहनने से बच्चे को बुरी नजर से बचाया जा सकता है.

अक्सर लोग काले धागे को एक फैशन के रूप में पहनते हैं. वहीं, कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इसे किसी दूसरे व्यक्ति के कहने पर पहनते हैं. इसके पहनने के कई फायदे हैं. हालांकि, सकारात्मक प्रभाव सुनिश्चित करने के लिए काला धागा पहनते समय कुछ सावधानियां बरतने की आवश्यकता होती है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार काला धागा पहनने के कुछ नियम होते हैं. इन नियमों का पालन न करने पर कुछ बुरे प्रभाव भी पड़ सकते हैं, इसलिए काला धागा बांधते समय इन नियमों का पालन जरुर करें.

काले धागे को हमेशा 9 गांठ बांधने के बाद ही पहनना चाहिए.
जिस हाथ या पैर में काला धागा बंधा हो, उस रंग के किसी अन्य धागे को न बांधें.
काले धागे को केवल शुभ मुहूर्त में बांधना चाहिए. यदि आप शुभ समय नहीं पा रहे हैं, तो आप इसके लिए किसी ज्योतिषी विशेषज्ञ से संपर्क कर सकते हैं.
काला रंग शनि ग्रह का है. इसलिए, काला धागा पहनने से आपकी कुंडली में शनि दोष के ग्रह की स्थिति कमजोर हो जाती है.
इसे पहनने के बाद हर दिन गायत्री मंत्र का जप करना महत्वपूर्ण है. ऐसा करने से इसका प्रभाव बढ़ जाएगा. हालाँकि, इस बात का ध्यान रखें कि जब भी आप गायत्री मंत्र का पाठ करें, एक निश्चित समय पर ही करें.

Post a Comment

Previous Post Next Post