भारत के लिए खेलते हुए मानसिक स्वास्थ्य की अहमियत समझी, फैमिली ने निभाई बड़ी भूमिका

ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या। ( फाइल फोटो )


भारत और मुंबई इंडियंस के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने बुधवार को कहा कि उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलते हुए मानसिक स्वास्थ्य की अहमियत महसूस हुई और खुद को मानसिक रूप से मजबूत बनाए रखने के लिए उन्होंने अपने परिवार को श्रेय दिया। मुंबई इंडियंस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किए वीडियो में हार्दिक ने कहा, 'जब मैंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला तो मुझे महसूस हुआ कि आपकी जिंदगी में किस तरह का दबाव शामिल हो जाता है। निश्चित रूप से जिंदगी हमारे लिए बदलती है, लेकिन व्यक्तिगत रूप से भी आपको सभी चीजों से उबरने की जरूरत होती है। इसलिए मुझे महसूस हुआ कि मानसिक स्वास्थ्य भी अहम है, जिसमें मेरे परिवार ने काफी बड़ी भूमिका अदा की, जिन्होंने सुनिश्चित किया कि मैं सही जगह बना रहूं।' 

मानसिक रूप से स्वस्थ होने पर ध्यान पिछले साल से ज्यादा दिया जा रहा है, क्योंकि कोविड-19 महामारी ने खिलाडि़यों को बायो-बबल (खिलाडि़यों को कोरोना से बचाव के लिए बनाए गए सुरक्षित माहौल) में रहने को मजबूर कर दिया, जिसमें उनकी जिंदगी केवल होटल और स्टेडियम तक ही सीमित हो जाती है ।

भारत के लिए 60 वनडे और 48 टी-20 मैच खेल चुके हार्दिक ने विश्व स्वास्थ्य दिवस के मौके पर शारीरिक फिटनेस की अहमियत पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा, 'दिन में सुनिश्चित कीजिए कि आप किसी तरह की एक्टिविटी में हिस्सा लें, जिससे आपकी फिटनेस अच्छी होगी, यह काफी महत्वपूर्ण है। अगर आप छोटी-छोटी चीजों का ध्यान रखोगे तो यह आपके शरीर के ध्यान के लिए अच्छा होगा।'

मुंबई इंडियंस के स्पिनर्स राहुल चहर और अनुकुल रॉय ने भी शारीरिक फिटनेस के महत्व पर बात की। चहर ने कहा कि जब उन्होंने एक बचपन में खेलना शुरू किया,तब से ही यह स्पष्ट था कि शारीरिक स्वास्थ्य कितना महत्वपूर्ण है। वहीं रॉय ने कहा कि एक प्रॉपर डाइट बनाए रखना आवश्यक है और डाइट का पालन करना हमेशा फायदेमंद होता है। बता दें कि आइपीएल 2021 की शुरुआत शुक्रवार से होगी। पहला मैच मौजूदा चैंपियन मुंबई इंडियंस (MI) और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच खेला जाएगा। 

Post a Comment

Previous Post Next Post