शादी के बाद हनीमून पर क्यों निकल जाते है कपल्स, वजह ऐसी की आप भी जाएंगे….



शादी दो इंसा’नो का ही नहीं ब’ल्कि दो दि’लो का भी मे’ल होता है | दो दि’ल ज’ब तक नही मि’लते जब तक वो एक दू’सरे को समझ नही लेते और एक दूसरे को समझने के लिये हनी’मून से बे’हतर कु’छ भी नहीं | हनी’मून पर जाने का का’रण के’वल रि’लेक्स होना नहीं है ब’ल्क‍ि य’ही वो व’क्त होता है जब दां’पत्य जी’वन बं’धे में दो लोग एक-दूसरे को ज्या’दा से ज्या’दा समझ पा’ते हैं |

शादी का मत’लब ही धमा’ल और म’स्ती से है, ये वो व’क्त होता है जब आप अपने पा’र्टनर को इ’स बात का भरो’सा दिला’ते हैं कि आप जिन्द’गीभर उसका हा’थ और सा’थ नहीं छो’ड़ेंगे | इस ज’श्न को से’लीब्रेट करने का सबसे अ’च्छा तरी’का है कि आप अपने पार्ट’नर के साथ कुछ व’क्त बि’ताएं | इसके लिए हनी’मून से बेह’तर कुछ भी नहीं |

अपने बेह’द व्य’स्त सम’य से कुछ व’क्त निकालकर पार्ट’नर के साथ व’क्त बिता’ना एक बहुत अ’च्छा आइ’डिया है, इस’से आपका दो लो’गों के बी’च शा’रीरिक और मानसि’क लगा’व बढ़’ता है | जब आप घ’र-परिवा’र और दो’स्तों से दू’र सि’र्फ एक श’ख्स के साथ होंगे तो आपका पू’रा ध्या’न उ’सी पर होगा |

Post a Comment

0 Comments