सचिन, गांगुली व लक्ष्मण की फिटनेस पर सहवाग ने किया कमेंट, कहा- इस टेस्ट में कभी पास नहीं हो पाते


पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन प्रैक्टिस के दौरान (एपी फोटो)
सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, वीवीएस लक्ष्मण ये सब ऐसे नाम हैं जिनके भारतीय क्रिकेट की पहचान है। इन खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन के बूते टीम इंडिया का नाम और बुलंद किया। इन सभी खिलाड़ियों को महान क्रिकेटर के तौर पर देखा जाता है, लेकिन टीम इंडिया के ही पूर्व दिग्गज ओपनर बल्लेबाज व इन सभी के साथ खिलाड़ी रहे वीरेंद्र सहवाग ने इनकी फिटनेस को लेकर एक टिप्पणी कर दी।

दरअसल अब टीम इंडिया में प्रवेश पाने के लिए यो-यो टेस्ट या फिर दो किलोमीटर की रनिंग टेस्ट को अनिवार्य कर दिया गया है। सहवाग ने इस टेस्ट के बारे में बात करते हुए कहा कि, भारतीय क्रिकेट टीम में जगह बनाने के लिए इन टेस्ट में पास होना जरूरी नहीं बल्कि इसके लिए स्किल का होना जरूरी है। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली फिटनेस पर काफी जोर देते हैं, लेकिन सहवाग की राय इससे जुदा है।

सहवाग ने कहा कि, स्किल सबसे ज्यादा जरूरी है। अगर आप फिट टीम के साथ उतर रहे हैं और आपमें स्किल ही नहीं है तो अंत में आपको हार का ही सामना करना होगा। उन्होंने कहा कि, अगर एक खिलाड़ी 10 ओवर गेंदबाजी करने के साथ-साथ फील्डिंग कर सकता है तो यही उसके टीम में होने का पैमाना होना चाहिए, अन्य दूसरी चीजें नहीं। सहवाग ने कहा कि, आज आर अश्विन या फिर वरुण चक्रवर्ती टीम इंडिया के नहीं खेल रहे हैं क्योंकि वो यो-यो टेस्ट पास नहीं कर पाए।


सहवाग ने कहा कि, मैं इन चीजों को नहीं मानता क्योंकि अगर टीम में सेलेक्ट किए जाने का यही पैमान होता तो सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगली या वीवीएस लक्ष्मण इसमें कभी पास नहीं होते। मैंने कभी भी अपने सामने इन दिग्गज खिलाड़ियों को कभी इस तरह के टेस्ट में पास होते नहीं देखा। उस वक्त फिटनेस टेस्ट में 12.5 अंक पास होने के लिए लाना जरूरी होता था, लेकिन ये दिग्गज कभी इतना नहीं ला पाते थे, लेकिन इन खिलाड़ियों में स्किल की कोई कमी नहीं थी।

Post a Comment

Previous Post Next Post