हरियाणा में लॉकडाउन को लेकर आई बड़ी खबर, खट्टर सरकार ने..

 


चंडीगढ़; हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने मंगलवार को साफ कर दिया कि प्रदेश में किसी सूरत में लाकडाउन नहीं लगाया जाएगा। उन्होंने अपने घरों को लौट रहे श्रमिकों से यहीं रुके रहने और घर वापसी नहीं करने की अपील की है। विज ने कहा कि हम लाकडाउन लाबू नहीं करेंगे, लेकिन सख्ती कर इस महामारी पर काबू पाएंगे। इसमें प्रदेश की जनता का सहयोग अपेक्षित है। यदि कोई सहयोग नहीं करेगा तो उसे इसका नुकसान उठाना पड़ेगा।

चंडीगढ़ में मी़डिया कर्मियों के सवालों का जवाब देते हुए अनिल विज ने कहा कि प्रदेश में कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। कोई भी अगर ऐसी बात करता है तो वह गलत और अफवाह है। यह बात सही है कि बाकी राज्यों की तरह हरियाणा में भी कोरोना तेजी के साथ फैल रहा है। फिर भी हम लाकडाउन लगाकर अर्थव्यवस्था को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहते।

उन्होंने कहा कि इससे लोगों के काम धंधे और रोजगार बंद हो जाएंगे। उद्योगों के बंद होने का असर पूरी अर्थव्यवस्था पर पड़ेगा। मजदूरों में असुरक्षा की भावना पैदा हो जाएगी। इसलिए सरकार ने सोच समझकर ही नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है। इस दौरान अंतरराज्यीय परिवहन सेवाएं जारी रहेंगी।

गृह मंत्री विज ने कहा कि गृह, स्वास्थ्य और शहरी निकाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिवों तथा डीजीपी को कोरोना से बचाव के नियमों का सख्ती से अनुपालन कराने को कहा गया है। सरकार नियम तोडऩे वालों के प्रति जरा भी हमदर्दी नहीं रखेगी। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि हम फैक्ट्रियां भी बंद नहीं कर रहे हैं।

उद्योगों में नाइट शिफ्ट में काम करने वाले मजदूर और कर्मचारी रात में कर्फ्यू लागू होने से पहले फैक्ट्री में प्रवेश कर लें और रात भर काम करें। सुबह को पांच बजे के बाद ही ड्यूटी खत्म कर बाहर निकलें। इसलिए किसी भी मजदूर या कर्मचारी को न तो डरने की जरूरत है और न ही यहां से जाने की आवश्यकता है।

अनिल विज ने बताया कि परिवहन संसाधनों की अंतरराज्यीय मूवमेंट जारी रहेगी। हेल्थ, रेल व पुलिस से जुड़ी सेवाओं के संचालन में किसी तरह की बाधा नहीं आने दी जाएगी। लोगों को किसी तरह की अफवाह पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है। अभी तक 26 लाख लोगों को वैक्सीन लग चुकी है।

उन्‍होंने कहा कि प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर 11 से 14 अप्रैल तक टीकाकरण उत्सव मना रही है। इस अवधि में 10 लाख लोगों को टीके लगाने का लक्ष्य है, जो बुधवार को पूरा हो जाएगा। अप्रैल माह के अंत तक कुल 35 लाख लोगों को टीके लग चुके होंगे। राज्य में 45 साल की उम्र से अधिक लोगों की संख्या करीब 60 लाख है। मई माह के अंत तक इन सभी को टीके लगा दिए जाएंगे।

Post a Comment

Previous Post Next Post