Road Safety की पिच पर युवराज सिंह का खतरनाक खेल, 4 दिन में दूसरी बार लगाई आग, 6 छक्कों के साथ गेंदबाज की बखिया उधेड़ी



युवराज सिंह. बस नाम ही काफी है गेंदबाजों के भीतर डर पैदा करने के लिए. कोई अगर असली सिक्सर किंग है तो वो युवराज सिंह ही है. क्योंकि अगर ऐसा नहीं होता तो 4 दिन के अंदर सेम स्टोरी रिपीट नहीं होती. रोड सेफ्टी सीरीज की पिच पर उनका वहीं खतरनाक खेल नहीं दिखता. अरे वही 6 छक्कों वाला. युवराज ने 17 मार्च को 6 छक्के जड़कर इंडिया लीजेंड्स को फाइनल का टिकट दिलाया. तो 4 दिन पहले यानी 13 मार्च को खेले साउथ अफ्रीका लीजेंड्स के खिलाफ मुकाबले में 6 छक्के ठोककर सेमीफाइनल में पहुंचाने का काम किया था.

अब 4 दिन में दिखे इन 6 छक्कों की कहानी में भी एक समानता है. युवराज ने दोनों ही मुकाबले में 6 में से 4 छक्के एक ही ओवर में जड़े थे. फर्क बस सिर्फ ये रहा कि 13 मार्च को एक ओवर में युवी ने 4 छक्के लगातार उड़ाए थे. और, 17 मार्च की छक्कों की कहानी में उनके 3 छक्के तो लगातार आए पर चौथा सिक्स एक गेंद के गैप के बाद आया.
शुरू सहवाग ने किया, खेल खत्म युवराज ने

वेस्टइंडीज लीजेंड्स के खिलाफ खेले सेमीफाइनल मुकाबले में युवराज सिंह ने वैसे तो 6 छक्कों के साथ 20 गेंदों पर 245 की स्ट्राइक रेट से 49 रन बनाए. लेकिन उनका असली खेल आखिरी की 11 गेंदों पर दिखा. यानी इंडिया लीजेंड्स की पारी के 19वें और 20वें ओवर में. मतलब जिस खेल को सहवाग और सचिन ने तूफानी अंदाज में शुरू किया था. उसे खत्म किया युवराज सिंह ने अपने मिजाज के साथ.
19वें में जमाए 4 छक्के

युवराज सिंह ने वेस्टइंडीज लीजेंड्स के गेंदबाज महेंद्र नागामोटो को 19वें ओवर में टारगेट किया. पहली 3 गेंदों पर दनादन छक्के जड़ दिए तो लोगों को 2007 के T20 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के खिलाफ वाला मुकाबला याद आने लगा. युवी ने वहां भी 6 छक्के वाला कमाल 19वें ओवर में ही किया था. लेकिन, चौथी गेंद मिस हो जाने से वो कमाल तो नही दोहराया जा सका. पर, 5वीं गेंद पर छक्का जड़कर युवराज ने ओवर का चौथा छक्का जड़ दिया. इसके बाद महेंद्र के ओवर की आखिरी गेंद पर भी कोई रन नहीं बना. इस तरह युवराज ने 19वें ओवर से 24 रन बटोरे.


20वें ओवर में युवराज के 15 रन

वेस्टइंडीज लीजेंड्स की ओर से आखिरी ओवर सुलेमान बेन आए. पहली गेंद पर सिंगल लेकर इरफान ने स्ट्राइक युवराज को दी. युवराज ने दूसरी गेंद पर छक्का जड़ दिया. तीसरी गेंद मिस हुई और चौथी गेंद पर 2 रन बने. लेकिन, 5वीं गेंद पर युवराज ने फिर से सिक्स मारा. इसके बाद आखिरी गेंद पर युवराज ने सिंगल लिया. और इस तरह आखिरी ओवर में 16 रन बने.

49 में से 39 रन 2 गेंदबाजों पर उधेड़े

मतलब ये कि मैच में युवराज की पारी 20 गेंदों की रही. उस पर उन्होंने 49 रन बनाए. लेकिन उनका असली खेल आखिरी 2 ओवरों में दिखा, जिसमें उन्होंने वेस्टइंडीज लीजेंड्स के 2 गेंदबाज महेंद्र नागामोटो और सुलेमान बेन की बखिया उधेड़ते हुए 6 छक्कों के साथ 39 रन बटोरे और टीम की जीत में हीरो वाला किरदार निभाया.

Post a Comment

Previous Post Next Post