लाल, गुलाबी, सफेद… हर रंग में रंगी टीम इंडिया, खाली हाथ आए अंग्रेजों को खाली हाथ ही विदा किया



होली है भई होली है… बुरा न मानो होली है. इंग्लैंड की टीम से विराट एंड कंपनी फिलहाल यही कह रही होगी. और, वो इसलिए क्योंकि खाली हाथ आए अंग्रेजों को उन्होंने भारत दौरे से खाली हाथ ही लौटा दिया है. ये भी न सोचा कि हम कौन हैं? घर आए अतिथियों का स्वागत हम कैसे करते हैं ? हिंदुस्तान में अतिथी भगवान के समान होता है. इसलिए उसका अच्छे से सत्कार किया जाता है. पर, टीम इंडिया ने क्या किया ? उन्हें बैरंग ही वापस जाने दिया. लेकिन, क्या कर सकते हैं. होली है. टीम इंडिया में कोहली है. सोच ही जिसकी जीत वाली है. इसलिए अंग्रेजों के हाथ रहे खाली हैं. और, फिर 130 करोड़ हिंदुस्तानियों को देनी थी होली गिफ्ट, इसलिए भी तो जरूरी थी इंग्लैंड पर जीत.

बहरहाल, लाल, गुलाबी, सफेद… इंग्लैंड के भारत दौरे पर विराट एंड कंपनी ने खुद को हर रंग में रंगा. वो हर रंग की क्रिकेट खेलते दिखे और उसे जीतते भी. उसने किसी भी रंग में अपनी चमक दमक खोने नहीं दी. इंग्लैंड का कलर चढ़ा भी तो इन्हें उसे उतारने में टाइम नहीं लगा. नतीजा, अपनी मेहमान नवाजी में टीम इंडिया ने उनका पूर्णत: सफाया कर दिया.

जब इंग्लैंड पर चढ़ा टीम इंडिया का गाढ़ा लाल रंग

इंग्लैंड के भारत दौरे की शुरुआत रेड बॉल क्रिकेट से हुई. चेन्नई में खेले पहले ही मैच में इंग्लैंड का कलर भारत पर अच्छे से चढ़ गया. पहले उसके कप्तान जो रूट का दोहरा शतक और फिर शानदार जीत के साथ टेस्ट सीरीज में 1-0 की लीड. इतनी रंग-बिरंगी शुरुआत के आगे टीम इंडिया बेरंग सी हो गई. लेकिन, अगले ही मैच में उसने अपना गाढ़ा लाल रंग इंग्लैंड पर उड़ेल कर उसकी रंगीन शुरुआत को फीका कर दिया. अब 4 टेस्ट की सीरीज का मुकाबला बराबरी पर था.
खेल गुलाबी और टीम इंडिया की चाल नवाबी

चेन्नई के बाद अहमदाबाद पहुंचने पर शहर बदला तो तीसरे टेस्ट के लिए गेंद का रंग भी बदल गया. भारत-इंग्लैंड तीसरा टेस्ट गुलाबी रंग की गेंद से खेला गया. और, टीम इंडिया ने इस गुलाबी क्रिकेट में भी अपनी चाल नवाबी भरपूर दिखाई. अब वो टेस्ट सीरीज में 2-1 से आगे थी. आखिरी टेस्ट एक बार फिर से लाल गेंद से ही खेला गया, जिसमें भारत लाल बादशाह बनकर उभरा. उसने एक जीत से 3 निशाने साधे. 3-1 से टेस्ट सीरीज जीती. इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की रेस से बाहर किया और तीसरा, साउथैम्पटन में न्यूजीलैंड से WTC फाइनल में भिड़ने का टिकट हासिल किया.


सफेद रंग की गेंद से की रोमांचक शुरुआत

लाल और गुलाबी रंग की क्रिकेट में धमाल मचाने के बाद अब बारी थी व्हाइट बॉल क्रिकेट की. अहमदाबाद में ही मुकाबला T20 सीरीज से शुरू हुआ. 5 T20 की सीरीज भारत ने 3-2 से जीती.


शहर बदला, फॉर्मेट बदला, पर बदली न इंग्लैंड की तकदीर

शहर एक बार फिर से बदला. टीम इंडिया ने अहमदाबाद से पुणे के रूख किया. पर गेंद का रंग सफेद ही रहा. हां, फॉर्मेट बदलकर ट्वन्टी -20 से फिफ्टी ओवर का हो गया था. सूरत बदलने के बावजूद सफेद बॉल क्रिकेट में टीम इंडिया ने एक बार फिर से बाजी मारी. उसने इंग्लैंड वालों को 3 वनडे की सीरीज में 2-1 से हराया.


भारत दौरे पर 8 मैच और 3 सीरीज गंवाया इंग्लैंड

भारत दौरे पर इंग्लैंड ने 3 सीरीज में 12 मुकाबले खेले. लेकिन, उन्हें 12 में से 8 मुकाबलों के साथ तीनों सीरीज भी गंवानी पड़ी. इससे ज्यादा मुकाबले किसी एक दौरे पर वो 2013-14 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर ही गंवाए थे, जहां उन्हें 12 मुकाबलों में हार मिली थी.

Post a Comment

Previous Post Next Post