ये है दुनिया का सबसे खराब विकेटकीपर, धोनी ये रिकॉर्ड देख लें तो माथा पीट लेंगे



एडम गिलक्रिस्‍ट, महेंद्र सिंह धोनी, कुमार संगकारा, मार्क बाउचर. क्रिकेट की दुनिया में ऐसे और भी कई विकेटकीपर हैं जिन्‍होंने अपनी बल्‍लेबाजी से भी एक अलग पहचान बनाई. ऐसे विकेटकीपर जिन्‍होंने अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में शानदार औसत के साथ बल्‍लेबाजी की. मगर क्‍या आपने किसी ऐसे विकेटकीपर के बारे में सुना है जिसने अपनी बल्‍लेबाजी से हर किसी को शर्मिंदा कर दिया. ऐसा क्रिकेटर जो आंकड़ों के लिहाज से दुनिया का सबसे खराब विकेटकीपर है. ऐसा खिलाड़ी जिसके रिकॉर्ड देखकर महेंद्र सिंह धोनी जैसा दिग्‍गज तो माथा ही पीट ले. आप सोच रहे होंगे कि हम न्‍यूजीलैंड (New Zealand) के केन जेम्‍स (Ken James) की बात कर क्‍यों रहे हैं. वो इसलिए क्‍योंकि इस विकेटकीपर बल्‍लेबाज का आज ही के दिन यानी 12 मार्च को जन्‍म हुआ था.

दरअसल, केन जेम्‍स ने न्‍यूजीलैंड के लिए 10 जनवरी 1930 में टेस्‍ट डेब्‍यू किया था. उन्‍होंने अपना आखिरी टेस्‍ट 31 मार्च से 1933 में खेला. इस दौरान जेम्‍स ने न्‍यूजीलैंड के लिए 11 टेस्‍ट मैच खेले. इनमें 13 पारियों में उन्‍हें बल्‍लेबाजी का मौका मिला. जहां इन 11 टेस्‍ट में उन्‍होंने विकेटकीपर के तौर पर 11 कैच पकड़े और 5 स्‍टंप किए, वहीं बल्‍लेबाज के तौर पर उनकी विफलता ने घटिया प्रदर्शन की मिसाल पेश कर दी.

11 टेस्‍ट में बनाए सिर्फ 52 रन

केन जेम्‍स ने 11 टेस्‍ट में सिर्फ 52 रन बनाए. इस प्रदर्शन में उनका औसत 4.72 का रहा. क्रिकेट इतिहास में ऐसे विकेटकीपर जिन्‍होंने कम से कम 10 टेस्‍ट मैच खेले हैं, उनमें केन जेम्‍स का रिकॉर्ड सबसे घटिया दर्ज किया गया. जेम्‍स ने इसके अलावा 205 फर्स्‍ट क्‍लास मैच भी खेले. इनमें उन्‍होंने 22.19 के औसत से 6413 रन बनाए. इसमें 7 शतक भी शामिल हैं. प्रथम श्रेणी क्रिकेट में केन जेम्‍स ने 311 कैच लिए जबकि 112 स्‍टंप किए. केन का बल्‍ले से प्रदर्शन काफी चौंकाने वाला रहा क्‍योंकि क्रिकेट के लगभग हर दौर में विकेटकीपर अपनी-अपनी टीमों के लिए बल्‍ले से उपयोगी योगदान देते रहे हैं. जेम्‍स की जिंदगी का एक और पहलू रहा. उन्‍होंने दूसरे विश्‍व युद्ध में रॉयल न्‍यूजीलैंड एयरफोर्स के लिए अपनी सेवाएं भी दीं.

Post a Comment

Previous Post Next Post