गर्मियों में अमृत है ये ड्रिंक, जानिए इसके कमाल के फायदे और बनाने का तरीका




गर्मी का मौसम शुरू हो चुका है, वहीं होली भी अब काफी नजदीक है, पार्टी और जश्न की भी तैयारियां होंगी. ऐसे में ठंडाई न सिर्फ आपकी होली पार्टी के मजे को दोगुना करेगी बल्कि आपके पेट को भी ठंडक का अहसास कराएगी. होली में ज्यादातर लोग भांग वाली ठंडाई पीते हैं, लेकिन यहां हम आपको बगैर भांग की ठंडाई के फायदे और रेसिपी के बारे में बताने जा रहे हैं, ताकि सिर्फ होली ही नहीं बल्कि पूरे गर्मी के मौसम में आपकी सेहत दुरुस्त रहे.

1. ठंडाई को गर्मियों के लिए अमृत कहा जाता है क्योंकि ये शरीर के तापमान को नियंत्रित करती है और पेट में जलन, अपच, एसिडिटी जैसी समस्याओं में राहत देती है.

2. ठंडाई पीने से आपके दिमाग को भी ठंडक मिलती है, जिससे आपका मूड बेहतर होता है और चिड़चिड़ाहट, गुस्सा और तनाव कम होता है.

3. यदि गर्मी के असर से आपके मुंह में छाले हो गए हैं, पेशाब में जलन या मितली जैसा महसूस होता है तो आपको ठंडाई पीने से काफी आराम मिलेगा. जिन लोगों को पेट में अल्सर होता है, उनके लिए भी ठंडाई काफी बेहतर है.

4. ठंडाई में मौजूद ड्राईफ्रूट्स आपके शरीर और दिमाग को मजबूत बनाते हैं. इसे पीने से इम्युन सिस्टम भी दुरुस्त होता है.


जानिए ठंडाई बनाने का तरीका

सामग्री : एक लीटर दूध, आधा कप बादाम, 6 चम्मच खसखस, सौंफ आधा कप, 2 चम्मच काली मिर्च, 5 हरी इलाएची, 2 चम्मच काली मिर्च, 4 चम्मच तरबूज के बीज, 4 चम्मच खरबूजे के बीज, 4 चम्मच ककड़ी के बीज, चीनी स्वादानुसार.

ऐसे तैयार करें

सबसे पहले खसखस, बादाम, खरबूजे, तरबूजे और ककड़ी के, सौंफ, काली मिर्च और इलाएची को पानी में रातभर के लिए भिगो दें. सुबह बादाम को छीलकर बाकी सारे सामान को पानी सहित एक साथ पीस लें. दूध को उबालें और उसमें स्वादानुसार चीनी डालकर ठंडा होने दें. यदि केसर है तो थोड़ा सा केसर भी डाल दें. अब दो गिलास पानी लें. अब जो पेस्ट तैयार किया है, उसमें थोड़ा-थोड़ा पानी डालें और उस पेस्ट को एक बारीक कपड़े या छन्नी से छानते जाएं. जब दो गिलास पानी पेस्ट के साथ पूरा छन जाए तो इस पानी को ठंडे दूध में मिला दें. कुछ देर फ्रिज में रखें. इसके बाद बर्फ के टुकड़े डालकर सर्व करें.

Post a Comment

Previous Post Next Post