20 रुपए की हेयर कटिंग के बदले गरीब नाई को मिले 28000 रुपए, वजह जान गर्व करोगे




दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं हमारी भारतीय संस्कृति के अनुसार मेहमान भगवान का रूप होता हैं. ऐसे में हमारे देश में जब भी कोई मेहमान आता हैं तो हमें उसका पूरा आदार सम्मान करना चाहिए ताकि जब वो वापस अपने देश जाए तो भारत और यहाँ के लोगो की तारीफ़ करे. लेकिन दुर्भाग्य से भारत में कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो यहाँ आने वाले विदेशी लोगो को देख लूटने लगते हैं. मसलन जो चीज आम भारतियों को 20 रुपए में मिलती हैं उसी का ये लोग विदेशी लोगो को 200 या उससे भी अधिक बताते हैं. चुकी इन विदेशी लोगो को यहाँ के प्राइस का अंदाजा नहीं रहता हैं इसलिए ये लोग इन्हें बेवक़ूफ़ बना देते हैं.



लेकिन हर कोई ऐसा नहीं होता हैं. यहाँ हमारे भारत में आज भी कुछ इमानदार लोग हैं जो गरीब होने के बावजूद हराम की या बेईमानी की कमाई खाना पसंद नहीं करते हैं. ऐसा ही एक ताज़ा उदाहरण अहमदाबाद में सड़क किनारे लोगो के बाल काटने वाले एक नाई के पास देखने को मिला. दरअसल Harald Baldr नाम का एक फेमस यूटूबर अहमदाबाद की सड़को पर घूम रहा था. Harald मूल रूप से नार्वे के रहने वाले हैं लेकिन इन दिनों इंडिया के टूर पर हैं. वे पिछले कुछ महीनो में भारत में बहुत जगह घुमे हैं. ऐसे में जब वे अहमदाबाद में टहल रहे थे तो उन्होंने सड़क किनारे एक व्यक्ति को बाल काटते हुए देखा.




ऐसा नज़ारा उन्होंने अपने देश में कभी नहीं देखा था. इसलिए उनकी इच्छा यहाँ कटिंग करवाने की हो गई. इस नाई ने Harald की बढ़िया की कटिंग कर दी. इसके बाद जब उन्होंने नाई से इस कटिंग की कीमत पूछी तो उसने पूरी इमानदार के साथ 20 रुपए बताए. Harald को ये बात बहुत अच्छी लगी. दरअसल Harald पिछले कुछ महीने से पुरे भारत की सैर कर रहे हैं. इस दौरान कई लोगो ने उनसे मूल कीमत से ज्यादा पैसे वसूले हैं. मसलन एक जगह उन्होंने दो रोटी ली थी जहाँ उनसे उन दो रोटियों के 20 रुपए की जगह 120 रुपए ले लिए गए थे. इसका पता उन्हें बाद में चला था. वो दूकान वाला तो फिर भी हेसियत से काफी अच्छा था लेकिन फिर भी उसने Harald के विदेशी होने का फायदा उठाया और उन्हें लूट लिया.




इकसे विपरीत सड़क किनारे बाल काटने वाला ये नाई बेहद गरीब हैं लेकिन इसके बावजूद उसने इमानदारी से कटिंग के सिर्फ 20 रुपए ही लिए. Harald को ये बात पसंद आई और उन्होंने उसे इमानदारी के बदले पुरे 400 डॉलर यानि 28000 रुपए दे दिए. Harald कहते हैं कि मुझे इस इंसान की इमानदारी बहुत पसंद आई इसलिए मैंने उसे इतना बड़ा इनाम दिया हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि Harald इसके पहले के सरकारी स्कूल में 70 हजार रुपए भी दान कर चुके हैं ताकि वहां के बच्चों को और बेहतर सुविधाएं मिल सके. इस कटिंग वाली घटना का विडियो भी उन्होंने अपने चैनल पर शेयर किया हैं जिसे आप लोग यहाँ देख सकते हैं.

Post a Comment

Previous Post Next Post