महिला क्रिकेट में मिताली का राज, 10 हजार रन पूरी करने वाली पहली भारतीय बल्लेबाज बनी

Mithali Raj named captain of ICC Women's World Cup team - मिताली राज के नाम  एक और उपलब्धि, चुनी गईं ICC महिला वर्ल्ड कप टीम की कप्तान - 10 खास बातें


भारतीय महिला क्रिकेट की सचिन तेंदुलकर के नाम से मशहूर और लगभग तीन दशक से भारतीय महिला क्रिकेट की कर्णधार रही मिताली राज शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10,000 रन पूरे करने वाली भारत की पहली और दुनिया की दूसरी महिला क्रिकेटर बन गयी।

मिताली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यहां तीसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान 35वां रन पूरा करते ही यह उपलब्धि हासिल की। उनके नाम पर अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10,001 रन दर्ज हैं और उनका औसत 46.73 है।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने उनकी उपलब्धि पर बधाई देते हुए कहा, ‘‘क्या शानदार क्रिकेटर है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10,000 रन पूरे करने वाली पहली भारतीय महिला बल्लेबाज। बधाई मिताली। ’’

इस 38 वर्षीय भारतीय बल्लेबाज से पहले इंग्लैंड की चार्लोट एडवर्ड्स ने यह उपलब्धि हासिल की थी। उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में 309 मैचों में 10,273 रन बनाये।

अपना 311वां अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रही मिताली ने भारत की तरफ से जून 1999 में वनडे के जरिये अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। उन्होंने अब तक 10 टेस्ट मैचों में 51.00 की औसत से 663 रन, वनडे में 212 मैचों में 50.53 की औसत से 6,974 और टी20 अंतरराष्ट्रीय में 89 मैचों में 37.52 की औसत से 2,364 रन बनाये हैं।

मिताली ने अपने करियर में रिकार्ड 75 अर्धशतक और आठ शतक जमाये हैं। इनमें से 54 अर्धशतक और सात शतक उन्होंने वनडे में जमाये हैं। टेस्ट मैचों में उन्होंने एकमात्र शतक (214 रन) इंग्लैंड के खिलाफ 2002 में टॉटन में बनाया था।

पिछले साल आईसीसी ने महिलाओं की वनडे और टी-20 टीमों की घोषणा की थी और भारत की दो अनुभवी खिलाड़ी मिताली राज को मौजूदा दशक (2000-2020) की महिला वनडे टीम में चुना था। मिताली को वनडे टीम में तीसरे नंबर के बल्लेबाज के रूप में चुना गया था।

सचिन के रिकॉर्ड को तोड़ने के करीब है मिताली

साल 1999 में वनडे क्रिकेट का सफर शुरु करने वाली मिताली ने कभी फिटनेस को समस्या बनने ही नहीं दिया। यही कारण है कि वह अब भी वनडे टीम का हिस्सा है। मिताली का वनडे करियर 21 साल 254 दिन तक का रहा है। उनसे आगे सिर्फ भारत के सचिन तेंदुलकर ही हैं जिनका वनडे करियर 22 साल, 91 दिन का रहा है।महिला क्रिकेट की सचिन तेंदुलकर कही जाने वाली मिताली राज अगर 103 दिन और वनडे क्रिकेट का हिस्सा बनी रही तो सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ देंगी


Post a Comment

Previous Post Next Post