पीरियड्स के दर्द से छुटकारा दिलाते हैं ये योगासन, जानिए इनके बारे में




पीरियड्स के दौरान महिलाओं के शरीर में तमाम तरह के बदलाव होते हैं. कुछ महिलओं को इन दिनों में तेज दर्द सहना पड़ता है तो वहीं, कुछ को सामान्य दर्द होता है. अक्सर महिलाएं कंफ्यूजन में रहती हैं कि पीरियड्स के दौरान एक्सरसाइज और योगा करना चाहिए या नहीं. एक्सपर्ट्स के मुताबिक इन दिनों में हल्की- फुल्की एक्सरसाइज करना फायदेमंद होता है.

आज हम आपको कुछ ऐसे योगासन के बारे में बता रहे हैं जिसे करने से आपकी दर्द की परेशानी दूर हो जाएंगी. साथ ही मेंटल स्ट्रेथ भी घटेगा. आइए जानते हैं पीरियड्स के दौरान कौन सा योगासन करना फायदेमंद है.


पर्वतासन



पर्वतासन करने के लिए दायां पैर बाई और दयां पैर बाईं जांघ पर रखें. सांस खींचते हुए दोनों हाथों को जोड़कर ऊपर उठाएं. कुछ देर के लिए उसी पॉश्चर में रूके. सांस छोड़ते हुए हाथ नीचे ले आएं. इसे कई बार दोहराएं.

कैमल पोज


कैमल पोज़

कैमल पोज करने से एब्डोमिनल मसल्स और हीप्स की मांस पेशियों को बहुत आराम मिलेगा. यह पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को भी कम करने में मदद करता है. ध्यान रहे कि इस आसन को करते समय जरूरत से ज्यादा अपनी गर्दन को पीछे न खींचे.

पिजन पोज

पीरियड्स के दौरान रीढ की हड्डी में दर्द की परेशानी से आराम मिलेगा. इस पोज को करने से आपका शरीर अच्छी तरह से स्ट्रेच होगा और पीरियड्स के क्रैम्प को कम करने में मदद करता है. आप इस पॉश्चर को 5 से 10 बार कर सकते हैं.


घुटनों को चेस्ट तक मोड़े

इस पॉश्चर को करने से आपके लोवर बैक और एब्डोमिनल मसल्स को आराम मिलेगा. साथ ही आपको पेट दर्द में भी राहत दिलाएगा.

आगे की तरफ झुकना

अगर आप बुरे पेट दर्द से गुजर रहे है तो इस आसन को करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है. लेकिन आपको ये आसन बिना किसी प्रेशर के करना है. ज्यादा देर तक बेड पर लेटे रहने से मसल्स अकड़ जाती है. इस आसन को करने से दर्द कम होगा और ब्लड सर्कुलेशन बढ़ेगा. इस आसन को करने से पीठ दर्द की समस्या दूर होती है.

Post a Comment

Previous Post Next Post