नागपंचमी की रात को चुपचाप जला दें ये चीज, इतना आयेगा पैसा की संभाल नहीं पाओगे..#



भारतीय संस्कृति में शिव के गले में सर्प और विष्णु को शेषनाग पर शयन करते हुए दिखाया गया है, जो प्रतीकात्मक रुप से सर्प और नाग के महत्व को उजागर करता है। नवरत्नों की प्राप्ति के लिए देव-दानवों द्वारा किए गए समुद्र-मंथन में अमृत सहित जगत-कल्याण के लिए वासुकी नाग ने मथानी के रस्सी के रुप में कार्य किया था। शास्‍त्रो के अनुसार इस दिन नाग जाति की उत्पत्ति हुई थी।

नाग भगवान शंकर के अंग भूषण माने गए हैं। नागपंचमी के दिन शिवजी के साथ ही नागों की पूजा करने से विशेष फल की प्राप्त होती है। नाग-पंचमी श्रावण मास में शुक्लपक्ष की पंचमी को मनाई जाती है। शास्‍त्रो में बताया गया है कि नाग को प्रत्येक पंचमी तिथि का देवता माना गया है, परंतु नाग-पंचमी पर नाग की पूजा को विशेष महत्व दिया गया है। आज हम नागपंचमी पर एक ऐसे उपाय को बताने वाले हैं जिसे करने से आप धनवान बन जाएंगे।

इस दुनिया में हर इंसान को कुछ पाने के लिए बहुत मेहनत करना पड़ता हैं लेकिन कभी कभी ऐसा लगता है कि आपका मेहनत व्‍यर्थ जा रहा है और कुछ मिल भी नहीं पा रहा है। आपके घर में बरकत नहीं हो पा रही या फिर आर्थिक तंगी से परेशान हैं तो आज हम आपको जो उपाय बताने जा रहे हैं इसे करने से आपकी सारी परेशानी दूर हो जाएगी।

ध्‍यान रखें इस उपाय को आपको नागपंचमी की रात यानि आज ही करना है इस छोटे से उपाय से आपको आर्थिक तंगी से छुटकारा मिलेगा। बता दें कि ये उपाय छोटी सी इलाइची का है। जी हां आप सभी के घर में इलायची पाया जाता होगा आप अपने किचन में इलायची जरूर रखते होंगे क्‍योंकि इलाइची एक ऐसी चीज है जिसका प्रयोग हम पूजा-पाठ में, मसाले में व मिठाई बनाने में करते हैं। इसलिए लगभग सभी के घर में ये पाई जाती है। शास्‍त्रों के अनुसार इलायची के कुछ ऐसे अचूक व सरल उपाय है जो आपके जीवन में सुख और संपत्ति को बढ़ाने में काम आ सकते है। इलायची आपको आसानी से धनवान बना सकता है। तो आइए जानते हैं इस उपाय को

इस उपाय के आपको सिर्फ 2 हरी इलायची लेनी है उसके बाद उसे लेकर अपने पूरे घर के सात चक्‍कर काटने हैं इस समय आपको किसी से बात नहीं करना है। और फिर उसके बाद उस इलायची को एक कटोरी में घर के मुख्‍य द्वार पर रखकर जला दें। ये उपाय आपको 3 बार करना है ऐसा करने से आपके घर की नकारात्‍मक उर्जा खत्‍म हो जाएगी और आप धनवान बन जाएंगे।

Post a Comment

Previous Post Next Post