हर दिन नीम का पानी पीने से ये बीमारियाँ दूर होती हैं, बनाने और पीने का सही तरीका



नीम एक लाभकारी औषधि है। स्वाद में कड़वा नीम कई तरह से स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है। नीम हर मर्ज का इलाज करता है, चाहे प्रतिरक्षा को बढ़ावा देना हो या त्वचा संबंधी किसी भी समस्या से छुटकारा पाना हो। आप घर पर नीम का पानी तैयार कर सकते हैं। इस पानी में एंटी-इंफ्लेमेटरी एंटी-फंगल, एंटी-बैक्टीरियल आदि जैसे कई पोषक तत्व होते हैं, जो शरीर को कई बीमारियों से बचाता है। नीम के पानी को पीने से सूजन, घाव, फुंसी, पेट की समस्या, बालों की समस्या भी ठीक हो जाती है या नीम की पत्तियों को सुबह खाली पेट चबाकर खाने से बाल ठीक हो जाते हैं। जानें नीम का पानी पीने के अन्य स्वास्थ्य लाभ …


दांतों के लिए फायदेमंद

नीम का पानी पीने से मौखिक स्वच्छता में सुधार होता है। यह दांतों और मसूड़ों से संबंधित समस्याओं को दूर करता है। चूंकि इसमें एंटी-बैक्टीरियल तत्व होते हैं, इसलिए यह दांतों में मौजूद बैक्टीरिया को खत्म कर देता है। बैक्टीरिया के मरने से सांसों की बदबू और मुंह की बदबू की समस्या ठीक हो जाती है। कैविटी, क्षय, दर्द, दांतों का पीलापन आदि जैसी समस्याओं से भी राहत मिलती है।

त्वचा और बालों के लिए नीम

नीम का पानी त्वचा और बालों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। पिंपल, फोड़े, त्वचा की एलर्जी, खुजली, एक्जिमा, त्वचा पर चकत्ते, धब्बा जैसी समस्याएं अक्सर बरसात या गर्म मौसम में अधिक होती हैं। अगर आप नीम का पानी पीते हैं, तो आपको त्वचा की समस्याओं से भी छुटकारा मिलेगा। नीम के पानी में विटामिन ई, कसैले गुण होते हैं, जो त्वचा और बालों की देखभाल करते हैं। इसकी एंटी-बैक्टीरियल प्रॉपर्टी स्किन बैक्टीरिया को मारती है। सिर के बाल को हटाता है।

पेट का स्वास्थ्य

पेट में दर्द होता है, कीड़े होते हैं, आंतों में सूजन होती है, तब भी नीम का पानी पीना फायदेमंद होता है। नीम चबाने या उसका पानी पीने से भी जठरांत्र संबंधी मार्ग में सूजन की समस्या में राहत मिलती है। पेट के अल्सर को कम करता है। पेट फूलना, पेट दर्द, ऐंठन, कब्ज आदि से छुटकारा दिलाता है। अगर आप पेट के फ्लू और संक्रमण से परेशान हैं, तो नीम का सेवन जरूर करें। यह पेट में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया को एक ही दिन में नष्ट कर सकता है।

प्रतिरक्षा बढ़ाएँ

यदि आप कोरोना अवधि में एक स्वस्थ और मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखना चाहते हैं, तो नीम के पत्तों का सेवन करें। नीम का काढ़ा या इसका पानी पिएं। नीम में एंटी-इंफ्लेमेटरी एंटी-फंगल, एंटी-बैक्टीरियल पोषक तत्व होते हैं, जो इम्युनिटी को मजबूत बनाते हैं। इसलिए अगर आप गंभीर बीमारियों से बचना चाहते हैं, तो आज से ही नीम का पानी पीना शुरू कर दें।

Post a Comment

Previous Post Next Post