लड़कियों के लिए मिसाल हैं ये महिला IAS, अपनी हाइट को नहीं बनने दिया कमजोरी...


कहते हैं दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं. अगर किसी चीज को पाने की लगन हो और उसके लिए कड़ी मेहनत की जाए तो कामयाबी से कोई नहीं रोक सकता. शायद यही कारण है कि ये महिला IAS आज लड़कियों के लिए मिसाल बन चुकी हैं. क्योंकि, इनकी जिदंगी आम लोगों की तरह सामान्य नहीं थी. बचपन काफी कठिनाइयों से गुजरा, इसके बावजूद उन्होंने वह मुकाम हासिल किया, जिसके बारे में लोग कल्पना तक नहीं कर सकते. हमारी खास पेशकश ‘जज्बे को सलाम’ में आज हम आपको IAS आरती डोगरा के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने अपने कद को कभी आड़े नहीं आने दिया.

आरती डोगरा मूलरूप से उतराखंड के दून स्थित विजय कॉलोनी की रहने वाली हैं. उनका बचपन कापी संघर्षपूर्ण था क्योंकि उनकी हाइट महज 3 फुट 2 इंच है. बचपन में डॉक्टर ने कहा था कि वह सामान्य स्कूल में नहीं पढ़ पाएंगी. लेकिन, आरती के पिता कर्नल राजेन्द्र डोरा सेना में अधिकारी थे और मां कुमकुम स्कूल में प्रिंसिपल. दोनों ने हिम्मत नहीं हारी और उनके जुनून ने आरती डोगरा को हौसला प्रदान किया. आरती के माता-पिता ने उन्हें सामान्य स्कूल में भेजना शुरू किया, साथ ही खेलकूद और अन्य गितविधियों के लिए भी आरती को तैयार किया. आरती डोगार खुद कहा था कि उनके माता-पिता ने उनकी परवरिश सिंगल चाइल्ड के रूप में की थी. उनके पिता ने उन्हें घुड़सवारी तक सिखाई। स्कूल से निकलने के बाद आरती डोगरा दिल्ली यूनिवर्सिटी के लेडी श्रीराम कॉलेज में पढ़ाई करने के लिए पहुंची. यहां उन्होंने छात्र राजनीति में भी हिस्सा लिया और छात्र संघ चुनाव भी जीतीं. ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद उन्होंने पीजी की पढ़ाई देहरादून से की. इसी दौरान उनकी मुलाकात देहरादून की तत्काली कलेक्टर मनीषा से उनकी मुलाकात हुई और वहीं से उनकी जिंदगी बदल गई.

आरती बताती हैं कि मनीषा ने ही उन्हें कलेक्टर बनने के लिए प्रेरित किया और इसके बाद ही आरती ने तय किया कि वह कलेक्टर बनेंगी. आरती के पिता ने भी इस फैसले में उनका साथ दिया। उम्मीद के विपरित आरती लिखित परीक्षा कर गईं. वहीं, जब वह इंटरव्यू के लिए गईं लेकिन वह पूरी तरह नर्वस थीं. हालांकि, वहां पर लोगों ने उनका सहयोग किया. इंटरव्यू भी काफी अच्छा रहा और पहले ही प्रयास में वर कलेक्टर बन गईं. यहां आपको बता दें कि आरती डोगरा 2006 बैच की IAS ऑफिसर हैं. राजस्थान में रहते हुए आरती डोगरा ने कई अद्भुत काम किए, जिसके कारण उन्हें खूब तारीफें मिली. लेकिन, आरती डोगरा इस कथन को सच साबित कर दिया कि अगर किसी चीज को दिल से पाने की कोशिश की जाए तो पूरी कायनात उससे आपको मिलाने में जुट जाती है.

Post a Comment

Previous Post Next Post