जंगल में फल खाकर रहता था सीरियल किलर, ऐसे करता था लोगों की ह’त्या, पकड़ा गया तो किया ये चौकाने वाला खुला’सा!



राजधानी और उसके आसपास दर्दनाक तरीके से 6 लोगों की जान ले चुके सीरि’यल कि’लर को 51 दिन बाद पुलिस ने सागर जिले के राहतगढ़ में दबोच लिया। पुलिस की पूछताछ में उसने बताया कि वो परिवार से तीन साल से दूर जगल में रहता है और फल वगैरह खाकर जीता है। उसने ह’त्या क्यों कि ये उसे पता नहीं। उसने कहा कि ऐसा तांत्रिक लोग करते हैं इसलिए उसने भी किया। 5 मर्डर करने के बाद जेल में बंद आरो’पी पैरोल पर बाहर आया और चकमा देकर भाग गया। उसके बाद उसने छठवां म’र्डर किया।


आ’रोपी मनीराम जमीन में गड़े खजाने का लालच देकर लोगों को जंगल में ले जाता था फिर उन्हें आंख बंदकर बैठा’कर तंत्र साधना करता था। फिर मौका पाकर पीछे से सिर पर प’त्थर से वारकर ह’त्या कर देता था। उसके बाद सिर कुचल देता था। पुलिस आज सीरि’यल किलर को कोर्ट में पेश करेगी।



पुलिस की पूछ’ताछ में उसने कहा कि मैंने सुना था कि तां’त्रिक ऐसे ही लोगों को बरग’लाकर ले जाते हैं और मा’र डालते हैं। इसलिए जब आदिल ने मुझसे अपने 17 हजार रुपए मांगे तो मैं उसे भी जंगल ले गया और तंत्र विद्या के नाम पर जब उसने आंखें मूंदी तो पीछे से सिर पर प’त्थर मार दिया। इसके बाद सिर कुचल’कर मौ’त के घाट उतार दिया।

जंगल में पुलिस को चकमा दे देता था आ’रोपी :

बीते 8 नवंबर को ह’त्या करने के बाद से जंगल-जंगल भट’क रहा था। पुलिस की टीमों ने कई बार वि’दिशा के जंग’लों में दबिश दी ,लेकिन आ’रोपी उन्हें चकमा देकर भाग जाता था। वो छत्ती’सगढ़ के राजनां’दगांव भागने की फि’राक में था।


Post a Comment

Previous Post Next Post