इस कुत्ते की वफादारी की कहानी जब जानेंगे, आपकी आंख से भी आंसू बह निकलेंगे...



जानवर भले ही बेजुबान होते हैं और कुछ सोच समझ नहीं पाते. लेकिन, उनके अंदर भी भावनाएं होती हैं और वह हमारा प्यार इंसान से कईं गुना अधिक महसूस कर सकते हैं. जानवरों में से कुत्ते को सबसे ज्यादा वफादार माना जाता है. कुत्ते इंसान के सच्चे दोस्त होते हैं. आपने देखा होगा कि अगर आप किसी बिल्ली को कुछ दिन दूध पिला देंगे तो डांटने पर वह आपको भी काट लेगी. परन्तु, वहीँ अगर आप एक दिन भी किसी कुत्ते को दूध पिला देंगे तो वह सारी जिंदगी आपका साथी बना रहेगा.

कुत्तों में सबसे अधिक भावनाएं होती हैं. यह किसी भी ख़ुशी को उसके आने से पहले ही अनुभव कर लेते हैं ठीक वैसे ही अगर उनके मालिक पर किसी तरह का खतरा आता है तो उसकी भनक उन्हें सबसे पहले लग जाती है और वह अपने मालिक को बचाने के लिए हर मुमकिन कोशिश करते हैं. आज हम आपको एक ऐसे ही कुत्ते की कहानी बताने जा रहे हैं, जिसे पढ़ कर आपकी आंखें भी भीग जाएँगी.

दरअसल, उत्तर प्रदेश की एक महिला ने घर में कुत्ता पाल रखा था. वह दिन रात उस कुत्ते के साथ हंसती खेलती थी जिसके चलते कुत्ता भी उनके सबसे करीबी बन चुका था. लेकिन तभी एक दिन दोनों की खुशियों को किसी की ऐसी नजर लग गई कि कुत्ते की मालकिन मर गई. अपनी मालकिन के बिना वह कुत्ता अधमरा सा हो गया और उसके जाने का गम उसे अंदर ही अंदर से खाने लगा. आस पास के लोगों के अनुसार मालिक की मृत्यु के बाद वह घंटों उनकी तस्वीर के सामने चुप चाप बैठा रहता था.


लोगो के अनुसार उन्होंने उस कुत्ते को खाना खिलाने की भी लाख कोशिश की लेकिन वह मालकिन के हाथों से बिना खाना नहीं खाता था और सारा दिन भूखा रहता था. लंबे समय तक कुछ भी ना खाने पीने के चलते आखिरकार एक दिन उस कुत्ते की भूखमरी से मौत हो गई और वह अपनी मालकिन के पास हमेशा के लिए चला गया. कुत्ते का मालकिन के प्रति प्यार देख कर लोगों ने उसको उसकी मालकिन की साड़ी के ऊपर लेटा कर दफना दिया.

इंसान के साथ कुत्ते की इस गहरी दोस्ती को देख कर वहां मौजूद लोग अपने आंसू चाह कर भी बहने से नहीं रोक पाए. लोगों ने उस कुत्ते को उसकी मालकिन की कबर के बिलकुल पास दफना दिया ताकि वह मरने के बाद भी अपनी मालकिन से दूर ना हो. इस कुत्ते की कहानी इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है.

Post a Comment

Previous Post Next Post