स्त्री के शरीर का कौन सा भाग पवित्र होता है, जानकर हैरान हो जाएँगे



आप सभी जानते है की एक स्त्री बहुत विचित्र होती हैं इसको समझना बहुत ही कठिन होता हैं। ना आज तक कोई उसे समझ पाया और ना ही उसकी शक्ति को नाप पाया और ना ही उसकी भावनाओं को रोक पाया और न ही उसकी सोंच को रोक पाया और रोकने की जरूरत भी क्या हैं।

हमारे ऋषि मुनियों का कहना हैं की एक ब्राह्मण के पैर पवित्र होते हैं। और एक गाय का पिछला भाग पवित्र होता हैं। और एक बकरी या घोड़े का मुहं पवित्र होता हैं। लेकिन अगर औरत की बात कि जाए तो वह सब स्थान से पवित्र होती हैं ऐसा हमारे ऋषि मुनियों का कहना हैं तो इस विचार धारा को अपने मन से निकाल दें। कि कोई स्त्री यहाँ से दोषित हैं या इस स्थान से पवित्र नहीं जी हाँ एक स्त्री हर स्थान से पवित्र होती हैं।


इसका एग्जांपल भी हैं हमारे पास भारत देश का केरल राज्य वहां स्त्री कि पूजा कि जाती हैं माँ के रूप में पत्नी के रूप में लक्ष्मी के रुप में और वहां एक पुरुष अपनी पत्नी के पैर भी छूता हैं। जो कि नार्थ इंडिया में ऐसा करना पाप माना जाता है लेकिन केरल में ये सब किया जाता हैं केरल को ईश्वर का अपने स्थान की संगिया भी दी गई हैं।


तो वहां भगवान क्यों ना वास करेंगे जहाँ स्त्री को इतना सम्मान या इतना बड़ा दर्जा दिया जाता है। एक स्त्री हर स्थान से पवित्र होती हैं उसका सम्मान करना चाहिए।


Post a Comment

Previous Post Next Post