बड़ी खबर- अंबानी को पीछे छोड़ टाटा बने भारत का सबसे अमीर..|

भारत का सबसे अमीर कारोबारी ग्रुप बना टाटा, जिसने अम्बानी को भी छोड़ दिया  पीछे

नई दिल्ली- Tata और Ambani ये देश के दो औद्योगिक घराने ऐसे हैं जिनके बीच बादशाहत की होड़ मची रहती है। मुकेश अंबानी की कंपनी RIL का मार्केट कैप (Market Cap) कभी Tata Group से ज्यादा हो जाता है तो कभी Tata Group से पिछड़ जाता है। अगर बीते साल की बात करें तो जुलाई 2020 में रिलांयस ग्रुप ने टाटा ग्रुप को पीछे धकेलते हुए टॉप कारोबारी घराना बन गया था। लेकिन महज 6 महीने के अंतराल में टाटा ग्रुप ने फिर से बादशाहत छीन ली।

अपनी विश्वसनीयता और प्रोडक्ट को लेकर लोगों के बीच भरोसा कायम करने की वजह से नमक से लेकर सॉफ्टवेयर तक बनाने वाली कंपनी Tata Group जिसकी अग्रणी कंपनी TCS के शानदार प्रदर्शन के बूते टाटा के मार्केट कैप में उछाल आई तो एक बार फिर टाटा देश का सबसे बड़ा बिजनेस घराना बन गया है। और मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस ग्रुप जो मार्केट वैल्यू के लिहाज से पहले पायदान पर था वह लुड़क कर मौजूदा दौर में तीसरे नंबर पर पहुंच गया है। 

टाटा के बाद दूसरे पायदान पर HDFC ग्रुप ने कब्जा जमा लिया है। अगर सभी कंपनियों के मार्केट कैप की बात करें तो टाटा ग्रुप की जितनी भी कंपनियां है उनका मार्केट कैप 17 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया है, दूसरे पायदान का HDFC Group करीब 2 लाख करोड़ रुपये पुंच गया है। HDFC Group का मार्केट कैप 15.25 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया है।

सालभर में 42 परसेंट का इजाफा हुआ Tata Group के मार्केट कैप में

Tata Group की सभी कंपनियों ने बीते एक साल में शानदार प्रदर्शन किया है, एक साल के भीतर इस ग्रुप का मार्केट कैप 42 परसेंट से ज्यादा का छलांग लगाया है। और सबसे बड़ी बात तो यह हा कि इस ग्रुप का मार्केट कैप केवल एक महीने में 13 परसेंट बढ़ा है, अगर वृद्धि दर को देखें तो एक महीने में टाटा ग्रुप का मार्केट कैप 1.9 लाख करोड़ हुआ है। दूसरी ओर मुकाबले मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस ग्रुप का मार्केट कैप 27 परसेंट बढ़ा तो HDFC Group सिर्फ 11 परसेंट की बढ़त दर्ज कर पाया है।

जुलाई 2020 के छमाही रिपोर्ट को देखें तो Tata Group की 17 लिस्टेड कंपनियों का कुल मार्केट कैप 11.32 लाख करोड़ था। दूसरी ओर रिलायंस इंडस्ट्रीज़ का मार्केट कैप 13 लाख करोड़ के पार हो गया था, उस समय रिलांयस ग्रुप टाटा ग्रुप को प’छाड़ते गुए देश का नंबर-1 ग्रुप बन गया था।

Post a Comment

0 Comments