कांग्रेस पार्टी में दौड़ी शोक की लहर: फिर लगा तगड़ा झटका, इस जाने माने दिग्गज नेता का हुआ निधन…



केरल: कांग्रेस पार्टी में एक बार फिर से मातम का माहौल छा गया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व राज्य मंत्री केके रामचंद्रन का आज यानी गुरुवार तड़के सुबह निधन हो गया। उन्होंने कोझीकोड के एक निजी अस्पताल में अंतिम सांस ली है। बता दें कि रामचंद्रन 78 साल के थे। वो एक मास्टर के रूप में काफी लोकप्रिय थे। उनका निधन कांग्रेस के लिए एक बड़ी क्षति है।

तीन बार किया था इन निर्वाचन क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व

बता दें कि केके रामचंद्रन ने साल 1995-96 के दौरान एके एंटनी सरकार में खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री की जिम्मेदारी संभाली। वहीं साल 2004 में ओम्मन चांडी कैबिनेट में स्वास्थ्य मंत्री थे। रामचंद्रन ने तीन बार सुल्तान बाथरी और कलपेट्टा निर्वाचन क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व कर चुके। अब वो सार्वजनिक जीवन से अवकाश लेने के बाद कोझीड़ोडी में अपने घर पर रह रहे थे।

दिल की बीमारी से थे पीड़ित

मिली जानकारी के मुताबिक, उन्हें दिल से संबंधित बीमारी थी। उनके निधन पर मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन और विपक्षी नेता रमेश चेन्निथला ने शोक व्यक्त किया है। कांग्रेस पार्टी के भी कई बड़े-बड़े नेताओं ने उनके निधन पर दुख जाहिर किया है। आपको बता दें कि इस साल कांग्रेस को ये दूसरा बड़ा झटका लगा है। रामचंद्रन से पहले पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री और Congress के वरिष्ठ नेता सरदार बूटा सिंह का निधन हो गया।



सरदार बूटा सिंह का भी निधन

सरदार बूटा सिंह (Sardar Buta Singh) लंबे समय से बीमारी चल रहे थे। जिसके बाद उन्होंने 86 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। उन्हें ‘दलितों का मसीहा कहा जाता था। बूटा सिंह के निधन पर राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि सरदार बूटा सिंह जी के देहांत से देश ने एक सच्चा जनसेवक और निष्ठावान नेता खो दिया है। उन्होंने अपना पूरा जीवन देश की सेवा और जनता की भलाई के लिए समर्पित कर दिया, जिसके लिए उन्हें सदैव याद रखा जाएगा। इस मुश्किल समय में उनके परिवारजनों को मेरी संवेदनाएं।





Post a Comment

Previous Post Next Post