यहां आकर करें ये काम जरूर होगी पुत्ररत्न की प्राप्ति, लेकिन लेना होगा ये संकल्प



आखिर संतान का सुख हर माँ बाप का सपना होता है। हर संतान अपने मां-बाप के लिए सुन्दर होती है। संतान चाहे जैसी भी हो मां-बाप के लिए वह खुबसूरत ही रहेगी। लेकिन जब पति-पत्नी कि गोद सूनी रहती है, तो उनके मन में बस एक ही ख्वाहिश रहती है की उनकी भी एक सुन्दर सी संतान हो। वह सुन्दर सी संतान पाने के लिए लाख कोशिश करते हैं।

सुन्दर संतान के लिए करें ये काम

# संतान प्राप्ति की इच्छुक महिला प्रतिदिन स्नानादि से निवृत होकर एक माह तक श्री गणपति की मूर्ति पर बिल्ब फल चढ़ाए। इसके बाद 11 माला इस मंत्र का प्रतिदिन जाप करे: “ॐ पार्वतीप्रियनंदनाय नम:”।

# इस उपाय को कम से कम 45 दिनों तक प्रतिदिन करने से फल प्राप्ति होती है। ध्यान रहे कि यह साधना बीच में खंडित नहीं होनी चाहिए। लगातार 45 दिनों तक सच्चे मन से मंत्र का जाप करना फलदायी बनता है।

# यदि कन्या के बाद पुत्र की कामना हो तो ये प्रयोग करें: उत्पन्न हुई कन्या का विधिवत पूजन करें। उसे नमस्कार करें और बन्धु–बांधवों को खीर एवं जलेबी का भोजन कराएं। यह उपाय पुत्र प्राति के योग बनाता है।

# पति-पत्नी पीपल का वृक्ष जिस शमी के उपर उग रहा हो, उस वृक्ष के नीचे जाकर अपनी मनोकामना प्रकट करते हुए वृक्ष का स्पर्श एवं प्रणाम कर संकल्प करें।

# यहाँ यह संकल्प करें कि “गर्भाधान होने तथा उसके पश्चात जब पुत्ररत्न की प्राप्ति होगी, तब ‘मुंडन-संस्कार यहीं पर आक की छाया में बैठकर कराएंगे।“

Post a Comment

Previous Post Next Post