घर में इस अनहोनी का संकेत देता है तुलसी का सूखता पौधा, जानिए.|



हम सब जानते है कि तुलसी के पौधे को माँ लक्ष्मी का रूप माना जाता है l हिन्दू धर्म में तुलसी का महत्व आयुर्वेद के अलावा धन से भी होता है l घर में स्थित तुलसी के पौधे की नियमित पूजा करने से दरिद्रता का वास नहीं रहता है l इसके अलावा यह भी कहा गया है कि तुलसी का पौधा आने वाले संकट का पूर्व संकेत भी देता है l

आपने कभी ध्यान दिया है कि आपके घर परिवार पर संकट आने से पहले आपके घर का तुलसी का पौधा पहले ही असर दिखाने लगता है जिसको अगर समय रहते देख लिया जाए तो आने वाले संकट से मुक्त हुआ जा सकता है l

ऐसी परिस्तिथियों में तुलसी का पौधा पहले ही सूखने लगता है l यह आपको इशारा दे देता है कि आपके गहर पर कोई संकट आने वाला है l
तुलसी का मुरझाया पौधा:

यदि आपके घर पर कोई विपत्ति आने वाली हो तो तुलसी का पौधा पहले ही मुरझा जाता है और आपके घर में दरिद्रता का वास होने लगता है l शास्त्रों में बताया गया है कि यह आने वाली विपत्ति का सूचक है l

जिस घर में दरिद्रता अशांति और कलह का वातावरण होता है। वहां कभी भी लक्ष्मी का वास नहीं होता। ज्योतिष के अनुसार ऐसा बुध ग्रह की वजह से होता है क्योंकि बुध का रंग हरा होता है और वह पेड़-पौधों का भी कारक माना जाता है।

कुछ लोग घर आँगन में तुलसी का पौधा लगा तो लेते है पर उसकी नियमित देखभाल नहीं कर पाते , याद रखे यह कोई आम पौधा नही है ,इसके कुछ नियम और कायदे भी है l

तुलसी के पौधे कि रोज़ पूजा करनी चाहिये और उसके पास घी का दिया जलाना चाहिए l इसके पत्तों को रोज़ नहीं तोडना चाहिये , रविवार, एकादशी, सूर्य या चन्द्र ग्रहण , सूर्य छिपने के बाद इनके पत्तों को नहीं तोडना चाहिए l

तुलसी का पौधा सूख जाए तो उसके सधन पर एक नया तुलसी का पौधा लगाना चाहिए और सूखे पौधे को फेकना नहीं चाहिए , पानी में प्रवाहित कर देना चाहिए l तुलसी के पत्तों को कभी भी दांत से चबाना नहीं चाहिए बल्कि पूरा निगल लेना चाहिए क्योंकि इस पौधे में शिव और गणेशजी का वास भी माना जाता है l

Post a Comment

Previous Post Next Post