भारत में मिलने वाली इस चीज की विदेशो में बहुत डिमांड है, यहाँ वालों को पता ही नहीं"#



भारत को छोड़कर दुनिया के देशों में गुड़ और काकवी की बहुत डिमांड है. क्योकि चीनी से बनी मिठाई जल्दी ख़राब हो जाती है और उसमे क्वालिटी नहीं होती, लेकिन गुड से बनी मिठाई कई महीनो तक ख़राब नहीं होती और बेस्ट क्वालिटी होती है. आपको सुनकर आश्चर्य है गाँव में गुड का भाव 20-30 रूपये किलो होता है.

लेकिन इजराइल में गुड का भाव 170 रुपए किलो है, इजराइल एक छोटा सा देश है, अगर आप गुड वहा बेचना चाहेंगे तो 170 रुपए किलो बिकता है. जर्मनी में गुड़ का भाव 210 रुपए किलो है, कनाडा में भारत के रुपए के हिसाब से गुड का भाव 330 रुपए किलो है. इन सभी देशों में गुड भी बहुत मांग है.ये चीनी वहा सस्ती है. क्योंकि उनको मालूम है यह शक्कर जहर है और गुड़ अमृत है.

गुड और शक्कर का हमेशा एक ही बात याद रखिए कुछ याद रख पाए या ना रख पाए. अगर शक्कर को अपने खाया तो उसको पचाना पड़ता है और इसमे इतने हानिकारक तत्व है कि आसानी से पचते नहीं है. और अगर आपने गुड खाया तो गुड की इतनी बेहतरीन क्वालिटी है कि जो कुछ गुड के साथ आपने खाया है, उसको गुड पचा देता है. शक्कर को पचाना पड़ता है उसमे 6-7 घन्टे लगते है और गुड जो कुछ भी खाओ उसको मात्र 4 घंटे 4० मिनट में पचा देता है. इसलिए भोजन के साथ गुड जरुर खाइए और शक्कर बिलकुल मत खाइए

अगर आप इस सूत्र का पालन कर ले तो डायबटीज, आर्थराइटिस, अस्थमा, ओस्तिमालिसिस जैसी 148 गंभीर बीमारिया आपकी जिंदगी में झाँकने भी नही आयेगी. आप अपनी जिंदगी में से ये चीनी को निकाल दे चीनी क्यूंकि हम जो प्राकृतिक शक्कर फल में से या और दूसरी वस्तुओं में से ले रहे है, ये चीनी उनके रास्ते में सबसे बड़ी रुकावट है.

Post a Comment

Previous Post Next Post