भूकंप से बिछी लाशें ही लाशें: जोरदार झटकों से गिरी 60 से ज्यादा इमारतें, छोटे छोटे बच्चे इमारतों के नीचे.. देखें भयानक…





जकार्ता। इंडोनेशिया में शुक्रवार सुबह हाहाकार मच गया। यहां भूकंप के एक के बाद एक झटके महसूस किये गए हैं। भूकंप के झटकों से अब तक करीब 7 लोगों की मौत हो गई। जबकि सैकड़ों लोग बुरी तरह से घायल हो गए हैं। रिएक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 6.2 है। झटकों के महसूस होते ही लोग अपने-अपने घरों से बाहर भागने लगे, लेकिन झटकों के तेज होने की वजह से इधर-उधर इमारते धराशायी होने लगी। भूकंप का केंद्र जमीन से 10 किलोमीटर नीचे बताया जा रहा है।

इंडोनेशिया में त्राही-त्राही

भूकंप से इंडोनेशिया में त्राही-त्राही मची हुई है। लोग अपने परिवार वालों को बचाने के लिए चीख-चिल्ला रहे है। झटकों में करीब 7 लोगों की जान चली गई है। जोरदार भूकंप ने यहां तबाही मचा दी है। बता दें, साल का ये पहला भूकंप है जो इतना तेज था, जिसमें लोगों की लाशें बिछ गई हैं।

सामने आई शुरुआती रिपोर्ट के अनुसार, सबसे ज्यादा नुकसान इंडोनेशिया के सुलावेसी शहर में हुआ है। फिलहाल राहत और बचाव का काम करने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। बताया जा रहा मृतकों की संख्या बढ़ सकती है।

60 से ज्यादा घरों को अब तक नुकसान

बताया जा रहा कि भूकंप का केंद्र मजाने शहर से 6 किलोमीटर दूर उत्तर-पूर्व में बताया जा रहा है। ऐसे में भूकंप के झटके रात 1 बजे महसूस किए गए। इन रिपोर्ट्स के अनुसार, 60 से ज्यादा घरों को अब तक नुकसान पहुंचा है।

ऐसा कहा जा रहा है कि करीब 7 सकेंड तक झटके महसूस किए गए। इंडोनेशिया के लिए ये 7 सेकंड मानों आफत का काल लेकर आए हो। हालांकि भूकंप के बाद सूनामी की चेतावनी नहीं दी गई है। इससे पहले गुरुवार को भी देश के कुछ हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। लेकिन उन झटकों से कोई नुकसान नहीं हुआ था।





Post a Comment

0 Comments