चिकन के दामों में बड़ी गिरावट! 50 रुपए किलो पहुंचा भाव, चेक करें कहां कितना हुआ सस्ता



बर्ड फ्लू (Bird Flu) की खबरों का असर अब चिकन (Chicken) की डिमांड पर दिखाई देने लगा है. चिकन और अंडों के शौकीन लोगों ने अब धीरे-धीरे इसे दूरी बनानी शुरु कर दी है. शायद यही वजह है कि हिसार में पोल्ट्री (Poultry) फार्म मालिक 50 रुपये किलो चिकन बेच रहे हैं, लेकिन इस रेट में भी उन्हें ग्राहक नहीं मिल रहे हैं. इतना ही नहीं एशिया की सबसे बड़ी गाजीपुर मंडी (Ghazipur) में भी चिकन के रेट 60 रुपये किलो तक आ गए हैं. यहां भी डिमांड पर बड़ा असर पड़ा है.

श्वेता एग्रीटेक पोल्ट्री फार्म, हिसार के मालिक मनीष ने न्यूज18 हिंदी को बातचीत में बताया कि बीते तीन दिन में चिकन का बाज़ार एकदम से नीचे आ गया है. चार दिन पहले तक चिकन 95 रुपये किलो से लेकर 105 रुपये किलो तक बिक रहा था. डिमांड भी खूब आ रही थी, लेकिन कोरोना की खबरों ने बाज़ार का खेल ऐसा बिगाड़ा कि आज हम 50 रुपये किलो चिकन बेचने को मजबूर हैं. इस रेट पर भी कोई ग्राहक चिकन खरीदने को तैयार नहीं है.

5 लाख चिकन रोज़ सप्लाई होता है गाज़ीपुर मंडी से
गाज़ीपुर मंडी में रचना पोल्ट्री के नाम से चिकन का कारोबार करने वाले जमील बताते हैं कि अभी तक उत्तर भारत की किसी भी पोल्ट्री में बर्ड फ्लू से बीमार मुर्गी सामने नहीं आई हैं, लेकिन दूसरे पक्षियों के मरने और मीडिया में खबरों के चलते चिकन खाने वालों में खौफ पैदा हो गया है.

यही वजह है कि देखते ही देखते दो-तीन दिन में चिकन की डिमांड कम हो गई है. गाज़ीपुर से दिल्ली-एनसीआर समेत कुछ और दूसरे इलाकों में चिकन सप्लाई होता है. अकेले गाज़ीपुर मंडी से ही रोज़ाना 5 लाख तक मुर्गे सप्लाई हो जाते हैं. लेकिन अब यह नंबर घटने लगा है.


Post a Comment

Previous Post Next Post