33 साल सिर्फ चाय पीकर जिंदा है यह महिला, एक जिद्द के कारण छोड़ दिया था अन्न-जल




छत्तीसगढ़: कहते हैं एक स्वस्थ और सेहतमंद इंसान के लिए अच्छी खुराक लेना बहुत जरुरी है लेकिन एक महिला सिर्फ चाय पीकर पिछले 33 वर्षों जिंदा है। जी हां बेहद हैरान करने वाला यह मामला कोरिया जिले का है। महिला न सिर्फ जीवित हैं बल्की पूरी तरह स्वस्थ्य हैं। इस महिला की इस अनूठी शारीरिक विशेषता को देखकर डॉक्टर भी हैरान है। आसपास के इलाके में वह चाय वाली चाची के नाम मशहूर है।



सर्दी हो या गर्मी चाय की चुस्कियां लेना हर किसी को अच्छा लगता है लेकिन अगर आपसे कहा जाए कि खाने-पीने के नाम पर आपको सिर्फ और सिर्फ चाय ही मिलेगी, तब आपको चाय से शायद उतना प्यार न रह जाए। लेकिन छत्तीसगढ़ की पल्ली देवी, जो कोरिया जिले के बैकुन्ठपुर विकासखण्ड के बरदिया गांव में रहती हैं। उन्होंने यह बात सच कर दिखाई है। वे पिछले लगभग 33 सालों से केवल चाय पीकर जिंदा हैं और मजे की बात तो यह है कि वे पूरी तरह से स्वस्थ भी हैं। परिवार के लोगों के अनुसार, पल्ली देवी ने पिछले लगभग 33 सालों से अन्न-जल को मुंह तक नहीं लगाया और केवल चाय पर अपने को जिंदा रखा। स्थानीय लोग उन्हें चाय वाली चाची कहते हैं।



जानकारी के मुताबिक कोरिया जिला मुख्यालय से महज 15 किलोमीटर दूर बरदिया नाम का एक गांव है, जहां पल्ली देवी अपने पिता के घर पर रहती हैं। 44 वर्ष की महिला पल्ली देवी के पिता रतिराम बताते हैं कि पल्ली जब छठी कक्षा में थी, तब से ही उसने भोजन छोड़ दिया, भाई ने बताया कि है जब से हमने होश संभाला है अपनी बहन को इसी तरह देखते आ रहे हैं। दिन ढलने के बाद चाय पीती हैं, हमारी बहन कोरिया जिले के तरगवा गांव में 1985 में ब्याह कर राम रतन के यहां गई थीं लेकिन पहली बार वापस लौटने के बाद दोबारा नही गईं। वहीं पल्ली देवी का कहना है कि उसे भूख नहीं लगती है दिन ढलने के बाद लाल चाय पीती हूं।



पल्ली देवी के भाई बिहारी लाल रजवाडे के अनुसार, परिवार में जिस जगह से दूध आता था वहां पैसे देने पर विलंब हो गया था। दूध वाले ने परिवार को खरी-खोटी सुनाई थी इससे नाराज होकर पल्ली देवी लाल चाय पीने लगी, उन्होने पल्ली देवी को डॉक्टरों को भी दिखाया ताकि यह पता किया जा सके कि कहीं उन्हें कोई बीमारी तो नहीं है लेकिन डॉक्टरी जांच में भी वह पूरी तरह स्वस्थ पाई गई।



वहीं कोरिया के जिला अस्पताल के डॉ. एसके गुप्ता का कहना है कि वैज्ञानिक नजरिये से एक व्यक्ति 33 सालों तक सिर्फ चाय पीकर जिंदा नहीं रह सकता है। यह एक हैरान करने वाला वाक्य है। यह बात अलग है कि नवरात्रि में लोग 9 दिनों के लिए व्रत रखते हैं और केवल चाय पीते हैं। लेकिन 33 साल बहुत ज्यादा होते हैं और यह संभव नहीं है।

Post a Comment

Previous Post Next Post