महाराष्ट्र: निराश हो चुके हैं बीजेपी में गए नेता-जल्द होगी NCP में वापसी, उप मुख्यमंत्री अजित पवार का दावा



राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) नेता और महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार (Ajit Pawar) ने दावा किया है कि विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी में शामिल हुए NCP के नेता जल्द ही पार्टी में लौटने वाले हैं. अजित पवार ने शनिवार को कहा कि विधानसभा चुनावों के दौरान बीजेपी ने NCP और कांग्रेस के कई नेताओं और कार्यकर्ताओं को अपनी पार्टी में मिला लिया था. ये नेता भी इस उम्मीद से बीजेपी में शामिल हो गए थे कि पार्टी सत्ता में आएगी क्षेत्र विकास की उनकी योजनाओं को समर्थन दिया जाएगा, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ.

अजित पवार ने कहा कि बीजेपी में शामिल नेता और कार्यकर्ता अपने क्षेत्र के लिए कोई योजना लागू नहीं कर पा रहे हैं और अब वे निराश हो चुके हैं.

इसलिए अब वे वापर NCP में लौटना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि पुणे और पिंपरी-चिंचवड में कुछ महत्वपूर्ण नेता जल्द ही फिर हमारे साथ जुड़ेंगे. ऐसा केवल पुणे और पिंपरी-चिंचवड में ही नहीं, बल्कि महाराष्ट्र के अन्य हिस्सों में भी होगा.


पिछले साल NCP के नेता बीजेपी में हुए थे शामिल

इस बीच पवार ने यह भी कहा कि वह इस बारे में कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते कि आने वाले दिनों में पार्टी में कौन लौटकर आएगा, क्योंकि ग्राम पंचायत चुनावों (Gram Panchayat elections) के लिए चुनाव आचार संहिता प्रभावी है. उन्होंने कहा कि कुछ नेता हैं जो अब हमारे साथ जुड़ना चाहते हैं. चुनाव आचार संहिता समाप्त होने के बाद हम उन्हें पार्टी में शामिल कर लेंगे.

मालूम हो कि पिछले साल विधानसभा चुनाव के दौरान NCP के कई नेता अपने समर्थकों के साथ बीजेपी में शामिल हो गए थे. कांग्रेस और NCP नेताओं के बीजेपी में शामिल होने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा था कि हम किसी को भी जबरन बीजेपी में शामिल नहीं कर रहे, बल्कि कई नेता बीजेपी में अपनी मर्जी से आना चाहते हैं लेकिन बीजेपी कोई धर्मशाला नहीं है.

फडणवीस और चंद्रकांत पाटिल पर भी कसा तंज

इसी के साथ उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और राज्य बीजेपी प्रमुख चंद्रकांत पाटिल पर भी तंज कसा. उन्होंने कहा, “कुछ नेता कह रहे थे कि मैं सत्ता में लौटूंगा और अब एक नेता और कह रहा है कि वह कोल्हापुर लौट आएगा. फड़नवीस तो लौटे नहीं और दूसरा वापस जा रहा है.” पवार ने कहा कि एक साल के अंदर ही पाटिल को ये लगने लगा है कि वह पुणे में काम नहीं कर सकते हैं और अब कोल्हापुर लौटना चाहते हैं.

बता दें कि हाल ही में चंद्रकांत पाटिल (Chandrakant Patil) ने कहा है कि हर कोई पुणे में बसना चाहता है, लेकिन वह नहीं जाएंगे और वह कोल्हापुर लौटना चाहते हैं, यानी उन्होंने संकेत दिया है कि उनके राजनीतिक जीवन का अगला चुनाव कोल्हापुर से लड़ा जाएगा.




Post a Comment

Previous Post Next Post