गुमनामी की जिन्दगी जी रहे है IPL के ये 4 बड़े स्टार, नम्बर एक था सबसे बड़ा चैम्पियन




भारत में आईपीएल एक ऐसा टूर्नामेंट है जहां कई बेहतरीन खिलाड़ी उबर कर सामने आते हैं| जिनमें कई खिलाड़ियों का प्रदर्शन ऐसा होता है कि उन्हें आईपीएल इतिहास में जगह मिल जाती है आज हम उन्हीं खिलाड़ियों के बारे में बात करेंगे जिन्होंने शुरूआती सीजन आईपीएल में इन खिलाड़ियों ने अपने खेल से चमक बिखेरी पर आज यह ना तो टीवी पर दिखाई देते हैं और ना ही अब उनके नाम की चर्चा होती है।

कामरान खान

राजस्थान रॉयल्स की ओर से 2009 में डेब्यू करने वाले कामरान खान ने अपनी रफ्तार से सभी का दिल जीत लिया था|उस समय सब यह मानने लगे थे कि कामरान खान जरूर भारतीय नेशनल टीम में अपनी जगह बना लेंगे क्योंकि इनकी लाइन और लेंथ एकदम सटीक हुआ करती थी| इन्होंने पहले सीजन में 9 विकेट भी झटके लेकिन 2011 के आईपीएल के बाद यह फिर किसी टीम में खेलते नहीं दिखाई दिए|

पॉल वल्थाटी

पॉल वल्थाटी मुंबई और राजस्थान रॉयल्स और किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेल चुके हैं|पॉल वल्थाटी उन चुनिंदा क्रिकेटरों में से एक हैं जिन्होंने एक ही मैच में 4 विकेट लेने के साथ साथ अर्धशतक भी बनाया हो यह कारनामा उन्होंने किंग्स इलेवन पंजाब की टीम में रहते हुए किया था| 2013 में उन्होंने अंतिम आईपीएल खेला था उसके बाद से यह फिर दोबारा आईपीएल में दिखाई नहीं दिए|



मनविंदर विसला

मनविंदर बिसला कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए विकेटकीपर और बल्लेबाज के तौर पर खेलते थे, 2012 के आईपीएल सीजन में मनविंदर ने मैच जिताऊ पारी खेली थी| लेकिन 2015 के बाद वह कभी किसी टीम में दिखाई नहीं दिए।

स्वप्निल असनोदकर



स्वप्निल असनोदकर ने राजस्थान के टीम में 2008 में देवी किया था अपने पहले मैच में असनोदकर ने विस्फोटक पारी खेलते हुए 34 गेंदों पर 60 रनों की पारी खेली लेकिन असनोदकर भी आईपीएल के इतिहास में गुमनाम होकर रह गये|




Post a Comment

Previous Post Next Post