सर्दियों में बंपर मुनाफा देगा ये बिजनेस, जानिए कैसे?




सर्दियों का मौसम अपने उफान पर है, ऐसे में आप चाहें तो कमाई के कुछ नए रास्ते खोज सकते हैं. मौसम के साथ व्यापार का गहरा नाता है, कुछ व्यापार तो होते ही मौसमी हैं. आज हम आपको सर्दियों में होने वाले ऐसे व्यापार के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसमें मुनाफा होने की प्रबल संभावनाएं है. दरअसल आज हम आपको ड्राई फ्रूट बिजनेस की बारीकियों को बताएंगें.

ड्राई फ्रूट का हिंदी में मतलब है सूखे फल. इनकी बिक्री वैसे तो साल में हमेशा होती ही रहती है, लेकिन सर्दियों के मौसम में ये व्यापार हमेशा मुनाफे में रहता है. सेहत के लिए फायदेमंद होने के कारण, सर्दियों में इसकी मांग बहुत अधिक होती है.
लागत

इस बिजनेस को अगर छोटे स्तर से शुरू करने जा रहे हैं, तो 50 हजार से 1 लाख तक का रूपया भी बहुत है. छोटे स्तर से इस काम को शुरू करना इसलिए भी फायदेमंद है कि सही न लगने पर आप इस काम को बंद भी कर सकते हैं.

जगह का चुनाव

इस व्यापार को करने के लिए आपको ऐसी जगह की जरूरत है, जहां अच्छी भीड़ रहती हो. शहर के आस-पास या बाजर में कोई दुकान खोलना फायदेमंद है. किसी टाउन में भी अपनी दुकान खोल सकते हैं, जहां आस-पास ऐसी अन्य दुकाने न हो.

यहां से मिलेगा माल

ड्राई फ्रूट थोक में खरीदना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए कई तरह के बाजार में मिल जाएंगें. वैसे दिल्ली का चांदनी चौक (लाल किले के पास) ड्राई फुट्स का बड़ा बाजार है, यहां से आपको माल सस्ते दामों पर मिल जाएगा.

इसके अलवा दिल्ली में खरी बोली(khari baoli, delhi) से भी माल मंगवा सकते हैं. वैसे आपके अपने शहर में ड्राई फ्रूट कहां मिलता है, इसके लिए आप इंटरनेट का सहारा या जस्ट डायल सेवा की सहायता ले सकते हैं.

मुनाफा

अगर आप खुद पैकिंग कर इसे बेच रहे हैं, तो एक किलो के पैकेट में आपको कम से कम 50 से 60 रूपए का मुनाफा होगा. अगर सही योजना और मार्केटिंग के साथ इस काम को करेंगें, तो महीने में 40 से 50 हजार रूपए का मुनाफा आराम से हो जाएगा.
ले सकते हैं फ्रेंचाइजी

आज के समय में कई बड़े ब्रांड अपनी फ्रेंचाइजी छोटे दुकानों को दे रहे हैं. अगर आप किसी की छत्र छाया में उसके नाम से फ्रेंचाइजी लेकर काम करना चाहते हैं, तो कर सकते हैं. इस बिजनेस में फ्रेंचाइजी का महत्व है.क्या होती है फ्रेंचाइजी

कम समय में अपने व्यापार को बढ़ाने के लिए अक्सर लोग किसी बड़े कंपनी के नाम का सहारा लेते हैं. किसी के नाम से अपने सामान को बेचना ही फ्रेंचाइजी कहलाता है. क्योंकि आप किसी दूसरी कंपनी के नाम का प्रयोग कर अपना सामान बेच रहे हैं, तो इसके बदले कंपनी एक तय अनुबंध के मुताबिक आपसे कुछ शुल्क लेती है.

फ्रेंचाइजी के फायदें

अगर कोई कंपनी आपको अपनी फ्रेंचाइजी देने को तैयार हो जाती है, तो आप उसके ब्रांड, तरीको और उसके द्वारा निर्धारित मूल्यों पर अपना सामान बेच सकते हैं. इसमें फिर आपको अधिक मेहनत करने की जरूरत नहीं होती.

Post a Comment

Previous Post Next Post