देश में एक ऐसी जगह जहां एक कप चाय से भी सस्ती मिलती हैं लड़कियां, लेकिन इसके पीछे है ये बड़ी वजह



दुनिया चाहे कितनी भी बदल जाए लेकिन आज भी लोगों की सोच बदली नहीं है. आए दिन किसी न किसी महिला का शोषण होता ही रहता है. आज भी भारत के गांवों में सबसे ज्यादा महिलाओं का शोषण होता है. आए दिन रेप की घटना सुनने को मिलती रहती है. ऐसी ही एक घटना सामने आई है जहां 10 रूपए में लड़कियों को बेच दिया जाता है।

मध्य प्रदेश में धड़ीचा नाम से एक प्रथा निभाई जाती है. इस प्रथा में ,महिलाओं को खरीद और बेचा जाता है. इस प्रथा में बिकने वाली औरत और खरीदने वाले पुरुष के बीच एक कॉन्ट्रैक्ट किया जाता है. जो पुरुष ज्यादा पैसा देगा उसका महिला के साथ संबंध लंबे समय तक रहता है. वहीं जो पुरुष कम पैसा देता है तो संबंध जल्दी खत्म हो जाता है. जैसे ही कॉन्ट्रैक्ट खत्म हो जाता है महिला को दूसरे पुरुष के साथ सौदा कर दिया जाता है.

गांव में रहने वाली एक महिला का कहना है कि “इस कुप्रथा को खत्म करने के लिए कई बार सरकार ने प्रयास भी किए लेकिन फिर भी यह प्रथा खत्म नहीं हुई”।

जानकारी के मुताबिक मंडी में लड़कियों की कीमत 15 हजार रुपए से शुरू होकर 4 लाख रुपए तक हो सकती है. खरीदार लड़कियों की चाल-ढाल और खूबसूरती देखकर उनकी कीमत लगाते हैं. मंडी में कुंवारी लड़कियां भी होती हैं और किसी की पत्नी भी. करार की अवधि समाप्त होने के बाद महिला की फिर दूसरे पुरुष से शादी हो जाती है. पहले वाला पुरुष ही महिला को रखना चाहता है तो उसे फिर से मोटी रकम अदा करनी होती है.

Post a Comment

Previous Post Next Post