शरीर की शुद्धि से लेकर मान सम्मान तक, ताम्बे की अंगूठी पहनने के फायदे जानकर आज ही धारण कर लेंगे***

 


ज्योतिष में ताम्बे की धातु को बहुत ही पवित्र माना गया है | केवल ज्योतिष ही नहीं बल्कि आयुर्वेद में भी ताम्बे की धातु को बहुत ही पवित्र माना गया है | इसीलिए इसे पहनने और इस धातु के बने बर्तनो के उपयोग करने के बारे में कई बाते कही गयी है | ताम्बे की अंगूठी पहनने से सेहत से जुड़े लाभ प्राप्त होते है, साथ ही इसके धारण करने से सूर्य व मंगल ग्रह भी शांत होते है | आज हम आपको ताम्बे की अंगूठी पहनने के फायदे बताने जा रहे है, तो आइये देखते है आज की इस पोस्ट में आपके लिए क्या खास है |

करती है रोगो से रक्षा

ताम्बे की धातु में एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है | ये कई तरह की बीमारियों को समाप्त करने में लाभकारी सिद्ध होता है | ताम्बे से बने कड़े को धारण करने से जोड़ो के दर्द और गठिया के रोग से भी आराम मिलता है | जानकारी के अनुसार इसके धारण करने से आर्थराइट्स में भी मदद मिलती है |

शरीर की शुद्धि

ताम्बा शरीर को शुद्ध करने का भी काम करता है | इसको धारण करने से शरीर में मौजूद विषैले तत्व बाहर निकलने लगता है | यदि आपका पाचन तंत्र सही नहीं है तो आप ताम्बा जरूर धारण करे | इसके धारण करने से नाभि और हार्मोन्स की समस्या भी नहीं होती है |

सुधरता है वास्तु

ताम्बे का वास्तु में भी उपयोग है, ये घर में सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाता है | इससे कई प्रकार के वास्तु दोष भी समाप्त होते है | इसके अलावा यदि आपके घर के द्वार गलत दिशा में बना हुआ है तो आप द्वार पर एक ताम्बे का सिक्का टांग दे, इससे वास्तु दोष समाप्त हो जाता है |

गुस्से और नेगेटिव विचारो से मुक्ति 

यदि आपको बात बात पर गुस्सा आ जाता है या आप नकारात्मक विचारो से घिरे रहते है, तो आपको ताम्बे की अंगूठी को धारण करना चाहिए | इससे शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है | मन शांत होता है, जिससे गुस्सा भी नहीं आता है |

मिलती है प्रतिष्ठा

सूर्य और ताम्बे का एक खास संबंध बताया जाता है | यदि आप अपने जीवन में मान सम्मान और प्रतिष्ठा पाना चाहते है, तो ताम्बे की अंगूठी अवश्य धारण करे | सूर्य यश और कीर्ति का ही प्रतीक माना जाता है | मध्यमा अंगुली में ताम्बे की अंगूठी धारण करने से कुंडली में सुर्यदोष भी दूर होता है |

Post a Comment

Previous Post Next Post