यूपी पंचायत चुनाव: जारी हुई शुरुआती वोटर लिस्ट, ऐसे चेक करें नाम

अब घर बैठे मोबाइल से चेक कर सकेंगे वोटर लिस्ट में नाम है या नही, ये है  तरीका-How to cheq voter list name in 2019 election

उत्तर पदेश में अगले साल होने वाले त्रि-स्तरीय पंचायत चुनावों की तैयारियां तेज कर दी गई हैं। वोटर लिस्ट कंप्लीट करने का काम बेहद तेजी से हो रहा है। 22 जनवरी को फाइनल वोटर लिस्ट (Final Voter List) का प्रकाशन किया जाएगा, लेकिन उसके पहले शुरुवाती वोटर लिस्ट (Panchayat Election Voter List) तैयार भी हो चुकी है। जिस में मतदाता यह देख सकते हैं कि उनका नाम शामिल है या नहीं। इस वोटर लिस्ट में अगर नाम, उम्र या कोई भी जानकारी गलत दर्ज हो गई है या नाम नहीं है तो इसको लेकर आपत्ति की जा सकेगी। सभी संशोधानों के बाद फाइनल वोटर लिस्ट जारी होगी।

यहां चेक करें वोटर लिस्ट में अपना नाम

फिलहाल जो ड्राफ्ट मतदाता सूची (Draft Voter List) जारी की गई है उसमें 28 दिसंबर से लेकर 3 जनवरी के बीच अपना नाम और दूसरी जानकारियां चेक की जा सकती हैं। जानकारी के मुताबिक 4 जनवरी से 11 जनवरी तक दावों और आपत्तियों पर विचार का उनका निस्तारण किया जाएगा। उसके पहले 28 दिसंबर से ड्राफ्ट वोटर लिस्ट सहायक जिला निर्वाचक रजिस्ट्री अधिकारी, बीएलओ (बूथ लेवल ऑफिसर) के पास उपलब्ध करा दी गई है। वहां इसे चेक किया जा सकता है। इसके अलावा राज्य निर्वाचन आयोग (UP Election Commission) की वेबसाइट http//sec.up.nic.in पर जाकर ऑनालाइन भी वोटर लिस्ट (Online Voter List Check) देख सकते हैं।

ऑनलाइन ऐसे चेक करें अपना नाम

राज्य निर्वाचन आयोग की वेबसाइट में http//sec.up.nic.in एक नया सर्च फीचर वोटर सर्विसेज (Voter Services) जोड़ा गया है। इस के सर्च पंचायत वोटर सेक्शन में जाने पर जिला, विकास खण्ड, ग्राम पंचायत, नाम, पिता का नाम आदि भरने पर आपकी सारी डिटेल सामने होगी। वोटर लिस्ट में नाम जोड़ने, संशोधित करने, काटने के प्रपत्र भी इसी पेज पर उपलब्ध हैं। वोटर लिस्ट में नाम जोड़ने के लिए प्रपत्र संख्या 2, संशोधन के लिए प्रपत्र संख्या 3 और नाम हटाने के लिए प्रपत्र संख्या 4 भरना होगा।

ऐसे कराएं संशोधन

अभी राज्य निर्वाचन आयोग से जो मतदाता सूची जारी की गई हे वह ड्राफ्ट वोटर लिस्ट है। यानि इसमें संशोधन कराने की गुंजाइश है। सम्बंधित सहायक जिला निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी या बूथ लेबल आफिसर से सम्पर्क कर इसमें संशोधन कराया जा सकता है। अधिकारियों को एक दावा फार्म भरकर देना होगा। इस फार्म को राज्य न निर्वाचन आयोग की वेबसाइट से डाउनलोड (Form Download) किया जा सकता है और दोनों अधिकारियों के पास भी ये उपलब्ध है। जानकारी के मुताबिक 11 जनवरी तक दावे और आपत्तियों का निस्तारण कर 24 जनवरी को फाइनल वोटर लिस्ट जारी की जा सकती है।

Post a Comment

Previous Post Next Post