क्या आप जानते है गेंद के पौधे से होने वाले फायदे के बारे में तो जानते है।



1.आपकी त्वचा पर मृत कोशिकाओं के कारण त्वचा के रोम छिद्र खुल जाते हैं और इसमें से निकलने वाला तेल धूल मिट्टी के साथ मिलकर चेहरे पर मुँहासे निकलने का कारण होता है। कई बार इन मुंहासों के कारण जलन और दर्द दोनों महसूस होते हैं। कैलेंडुला का तेल दाग धब्बे के उपचार में मदद करता है। इसमें एंटी फंगल के गुण होते हैं जो दाग धब्बे को हटाने में मदद करती है। चेहरे के मुँहासे पर कैलेंडुला का तेल युक्त क्रीम लगाने से मुँहासे दूर हो जाते हैं। यह त्वचा में कोलेजन के स्तर को बढ़ाता है तथा दाग धब्बे दूर करता है।

2.कान में दर्द हो तो गेंदा का औषधीय गुण फायदेमंद होता है। 2-2 बूंद गेंदा के पत्ते के रस को कान में डालने से कान का दर्द ठीक होता है।

3.गेंदा के फूल में पाये जाने वाले एन्टीऑक्सिडेंट कैंसर को नष्ट करने में सक्षम होता है। गेंदा के फूल-तना-पत्ती तथा पौधा में कैंसर से लड़ने की शक्ति होती है। गेंदा के फूल-तना-पौधा का काढ़ा बनाकर सुबह-शाम नियमित सेवन करने से कैंसर में लाभ होता है।

4.बुखार को नष्ट करने के लिए गेंदा का फूल गुणकारी होता है। गेंदा के फूल में एंटी- बैक्टीरियल और एंटी-वायरल गुण पाये जाते हैं। गेंदा फूल की चाय पीने से बुखार के लक्षण जैसे कांपना, भावुकता बहुत ज्यादा ठंड लगना सभी प्रकार के बुखार में लाभकरी होता है।

5.महिलाएं स्तनों की सूजन की समस्या में गेंदा का उपयोग कर सकते हैं। गेंदे के पत्तों को पीसकर स्तनों पर लगाएं। इसके साथ ही इससे सिकाई करने से स्तनों की सूजन कम होती है।

6.यह शरीर में जमा सभी विषैले तत्वों को हटाकर शरीर की डिटॉक्सिफिकेशन प्रक्रिया में मदद करता है. इसके साथ ही पाचन तंत्र को लाभ पहुँचाने के साथ -साथ जलन और सूजन को कम करने में भी मदद करता है।

7.नपुंसकता में गेंदा के फूलों को सुखाकर इनके बीज निकाल लें। उसके बाद इन बीज में थोड़ी सी मिश्री मिलाकर खाए। इस प्रयोग से आप की नपुंसकता नष्ट हो जाएगी। और नपुंशक पुरुष वीर्य वर्धक हो जाएगा।

Post a Comment

Previous Post Next Post