भारतीय महिलाएं क्यों भरती हैं मांग में सिंदूर? जान लें सही तरीका भी

भारतीय महिलाएं क्यों भरती हैं मांग में सिंदूर? जान लें सही तरीका भी -  why-do-indian-women-fill-sindoor-in-maang - Nari Punjab Kesari

भारतीय शादीशुदा महिलाओं के लिए सिंदूर का काफी महत्व है। माथे पर लगा सिंदूर सिर्फ महिलाओं के शादीशुदा होने का प्रमाण ही नहीं है बल्कि इसे सुहाग की लंबी उम्र और सुख समृद्धि का प्रतीक भी है। 16 श्रंगारों में से एक सिंदूर लगाने की प्रथा सदियों से चली आ रही हैं। सिर्फ धार्मिक ही नहीं बल्कि वैज्ञानिक दृष्टि से भी सिंदूर लगाना काफी फायदेमंद माना जाता है। चलिए आपको बताते हैं सिंदूर से जुड़ी कुछ खास बातें जो हर महिला को पता होनी चाहिए...

अच्छे भाग्य के लिए

कहा जाता है कि लाल रंग का सिंदूर लगाने से माता पार्वती औरतों को अखंड सुहागन होने की आशीर्वाद भी देती हैं। पौराणिक कथाओं के अनुसार, सिंदूर लगाने वाली औरतों के पति की रक्षा स्वंय माता पार्वती करती हैं और उन्हें बुरी शक्तियों से बचाती हैं। वहीं, इससे

सिंदूर छिपाना गलत

फैशन के चलते आजकल महिलाएं सिर्फ दिखावे के लिए ही सिंदूर लगाती हैं लेकिन शास्त्रों के अनुसार सिंदूर दिखाई देना अच्छा होता है। सिंदूर छिपाने से पति के मान-सम्मान को हानि पहुंच सकती है। वहीं लंबा सिंदूर लगाने से पति की इज्जत बढ़ती है।

नाक की सीध में सिंदूर लगाना

शास्त्रों के अनुसार, सिंदूर हमेशा नाक की सीध में ही लगाना चाहिए क्योंकि टेढ़ा-मेढ़ा सिंदूर पति का भाग्य बिगाड़ देता है। साथ ही इससे वो हमेशा परेशानियों के घेरे में रहते हैं।

देवी लक्ष्मी के सम्मान का प्रतीक

माना जाता है कि सिर में सिंदूर लगाना देवी लक्ष्मी का घर पर वास करने और भाग्य का संकेत होता है। वहीं, सिंदूर की सकारात्मक ऊर्जा महिला व उसके पति पर अच्छा असर डालती है, जिससे वो सेहतमंद व भाग्यशाली रहते हैं।

एकाग्रता बढ़ाना

पौराणिक कथाओं के अनुसार, हल्दी वाला सिंदूर लगाना भी शुभ माना जाता है। इससे ना सिर्फ एकाग्रता बढ़ती है बल्कि यह मन को भी शांत रखता है। साथ ही इससे कई रोग-दोष भी दूर रहती हैं।

सेहत के लिए फायदेमंद सिंदूर लगाना

इसके अलावा सिंदूर लगाना वैज्ञानिक दृष्टि में भी काफी शुभ माना गया है। इससे ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहता है। दरअसल, सिंदूर लगाने का स्थान ब्रह्मरन्ध्र और अध्मि स्थान के ठीक ऊपर होता है। सिंदूर में मौजूद तत्व इस स्थान से शरीर में मौजूद वैद्युतिक उर्जा को कंट्रोल करके हैं, जिससे आप बीमारियों से बचे रहते हैं। वहीं इसमें मौजूर पारा झुर्रियां जैसी समस्याओं से बचाता है।

ध्यान में रखें ये बातें...

. शास्त्रों के अनुसार, कभी भी किसी के सामने सिंदूर नहीं लगाना चाहिए क्योंकि इससे पति को नजर लगती है और आपकी प्यार भी कम होता है। इसके अलावा ना ही अपनी सिंदूर किसी से शेयर करें और ना ही किसी से सिंदूर लें।

. जब भी आप सिंदूर लगाएं तो माता पार्वती का ध्यान जरूर करें। इसके अलावा कोशिश करें कि आप रोजाना पति के हाथ से ही माथे पर सिंदूर लगवाएं। अगर रोजाना ऐसा नहीं कर सकती तो कम से कम हफ्ते में 2 बार पति के हाथ से सिंदूर डलवाएं।

. अगर सिंदूर जमीन पर गिर जाए तो उसे दोबारा इस्तेमाल ना करें। ऐसा करना अपशगुन माना जाता है इसलिए उस सिंदूर को किसी पेड़ के नीचे ठंडा कर दें।

घर पर बनाएं ऑर्गेनिक सिंदूर

घर पर सिंदूर बनाने के लिए हल्दी, फिटकरी और सुहागा को मिक्स करें। फिर इसमें नींबू का रस मिलाकर डिब्बी में भर लें। अब इसे रोजाना इस्तेमाल करें।

Post a Comment

Previous Post Next Post