अंगीठी जलाकर सोना पड़ा भारी, दो बहनों की ....., तीसरी की हालत गंभीर



उत्तर प्रदेश में इन दिनों कड़ाके की ठंड पड़ रही है। वहीं लोग इस हाड़ कंपाऊ ठंड से बचने के लिए आग का सहारा ले रहे है। वहीं यूपी के गोरखपुर में बंद कमरे में अंगीठी जलाकर सोना तीन बहनों को भारी पड़ गया। तीन बहनों में से दो की दम घुटने से मौत हो गई जबकि तीसरी की हालत गंभीर बनी हुई है।

कमरे में ऑक्सीजन का स्तर कम होने से गई जान

बता दें कि घटना, गोरखपुर के बड़हलगंज थाना क्षेत्र के मझवलिया गांव की है। बताया जा रहा है कि मझवलिया गांव के अवधेश प्रसाद की तीन बेटियां प्रतिमा (20), अंतिमा (18) और निधी (17) एक कमरे में कोयले की अंगीठी जलाकर सोई थीं इस दौरान कमरा बंद था। उसमें न कोई खिड़की थी न रोशनदान। जानकारों का कहना है कि कमरे में ऑक्सीजन का स्तर काफी कम हो गया होगा।

इसी वजह से अंगीठी के धुंए से दो बहनों अंतिमा और निधि का दम घुट गया। दोनों की मौत हो गई। जबकि कमरे में सो रही तीसरी बहन प्रतिमा की हालत भी गंभीर है। उसका गोरखपुर के एक प्राइवेट अस्पताल में इलाज चल रहा है।

गांव में छाया मातम

उधर दो बहनों की मौत के बाद परिवार और गांव में मातम छा गया। घर वालों ने बताया कि रात में तीनों बेटियां खाना खाने के बाद कमरे में सोने चली गईं थीं।

सोमवार सुबह कमरे से कोई आवाज नहीं आने पर लोहे के रॉड से दरवाजा तोड़ा गया। अंदर तीनों बहनें अचेत पड़ी थीं। जिन्हें आनन-फानन तीनों को नजदीकी अस्‍पताल ले गए। वहां डॉक्‍टरों ने अंतिमा और निधि को मृत घोषित कर दिया। प्रतिमा का इलाज चल रहा है।


Post a Comment

Previous Post Next Post