शनिवार को इन वस्तुओं की खरीददारी आपको बना सकती है कंगाल-

शनिवार व्रत : कैसे रखें Shanivar Vrat, जानिए पूजन विधि, कथा, आरती और लाभ


सौरमंडल के सभी 9 ग्रह हमारे जीवन को समय-समय पर प्रभावित करते रहते हैं। ज्योतिष के अनुसार जिस पल हम जन्म लेते हैं उस पल के आधार पर ग्रह-नक्षत्र मिलकर हमारी कुंडली का निर्माण करते हैं। यह कुंडली हमारे जीवन का आंकलन करती रहती है। ज्योतिष शास्त्र के आधार पर सभी ग्रहों की अपनी-अपनी विशेषता, पसंद-नापसंद और स्वभाव होता है। वैसे तो सभी नौ ग्रह अपने-अपने हिसाब से जातक के लिए विशेष होते हैं, लेकिन जब शनि ग्रह की बात आती है तो सभी एकदम सचेत हो जाते हैं।

न्याय के देवता हैं शनि

शनि देव के विषय में यह कहा जाता है कि वे न्याय के देवता हैं, यदि उनकी कुदृष्टि किसी पर पड़ गई तो राजा को रंक बनते हुए भी देर नहीं लगती। यही कारण है कि शनि देव को प्रसन्न करने का प्रयास सभी अधिक करते रहते हैं। मान्यतानुसार प्रत्येक शनिवार, शनिदेव को सरसो का तेल और काले तिल चढ़ाने से वे प्रसन्न होते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसी वस्तुओं के बारे में बताएंगे जिन्हें कभी भी शनिवार के दिन खरीदना नहीं चाहिए। क्योंकि ऐसा करना शनिदेव को रुष्ट कर सकता है और उनके क्रोधित होते ही दुर्भाग्य का साया व्यक्ति के सिर पर मंडराने लगता है। 

इन वस्तुओं को नहीं खरीदना चाहिए

-शनिवार के दिन कभी लोहा नहीं खरीदना चाहिए।

- लकड़ी खरीदने के लिए कभी शनिवार के दिन का चयन नहीं करना चाहिए।

- शनिवार के दिन सरसों का दान किया जाता है, लेकिन कभी सरसों का तेल या सरसों के दाने नहीं खरीदे जाते।

- बैंगन खरीदना हो तो भी शनिवार का दिन टाल देना चाहिए।

- शनि देवता पर काली उड़द भी चढ़ाई जाती है इसीलिए वह भी नहीं खरीदनी चाहिए।

- काले तिल या काली मिर्च भी शनिवार के दिन नहीं खरीदनी चाहिए।

- जूते या काले कपड़े खरीदने के लिए भी शनिवार का दिन सही नहीं है।

- बादाम या नारियल खरीदने के लिए भी यह दिन उपयुक्त नहीं है।

- इलेक्ट्रॉनिक समान किसी भी प्रकार का या छाता भी शनिवार के दिन नहीं खरीदना चाहिए।

- नमक शनिवार के दिन खरीदने से घर में दरिद्रता आती है। इस दिन नमक खरीदने से यह घर पर कर्ज बढ़ता है। साथ ही ऐसा करना रोगकारी भी सिद्ध हो सकता है।

- इस दिन कैंची नही खरीदना चाहिए मान्यता है कि इस दिन खरीदी गई कैंची रिश्तों में तनाव लाती है। इसलिए इस दिन कैंची खरीदने से बचें।

Post a Comment

Previous Post Next Post