मंगलवार के दिन हनुमान जी करेंगे आपको मालामाल, इस दिन करें पीपल का पूजन-!


मंगलवार के दिन हनुमान जी करेंगे आपको मालामाल

हिन्दू मान्यता अनुसार सप्ताह के हर दिन किसी देव देवी को समर्पित है, जैसे कि सोमवार का दिन शिव जी के नाम तो शनिवार का दिवस शनि देव के नाम ठीक उसी प्रकार मंगलवार हनुमान जी के नाम से पूजा जाता है। हनुमान जिन्हें मारुति भी कहा जाता है।

हनुमान परमेश्वर की भक्ति की सबसे लोकप्रिय अवधारणाओं और भारतीय महाकाव्य रामायण में सबसे महत्वपूर्ण व्यक्तियों में प्रधान हैं। कई पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक हनुमान जी शिव जी के रुद्रावतार थे। रामायण के अनुसार वे जानकी के अत्यधिक प्रिय हैं।

इस धरा पर जिन सात मनीषियों को अमरत्व का वरदान प्राप्त है, उनमें बजरंगबली भी हैं। हनुमान का अवतार भगवान राम की सहायता के लिये हुआ। हनुमान जी के पराक्रम की असंख्य गाथाएं प्रचलित हैं। इन्होंने जिस तरह से राम के साथ सुग्रीव की मैत्री कराई और फिर वानरों की मदद से राक्षसों का मर्दन किया, वह अत्यन्त प्रसिद्ध है।

यह कहा गया है कि हनुमान जी वर्चस्व अभी भी विश्व में कायम है। हनुमान जी अपने भक्तों की मांग अवश्य पूर्ण करते हैं, उनका हर कष्ट दूर करते हैं। हनुमान की पूजा का शुभ दिन मंगलवार एवं शनिवार है। ऐसा भी माना जाता है कि हनुमान जी को प्रसन्न करने हेतु भक्त पीपल के वृक्ष को पूजना सबसे प्रबल मानते हैं। जो ऐसा करते हैं उनकी हर मनोकामना पूर्ण होती है, और हनुमान जी आपको मालामाल कर देते हैं।

उपाय जो दौलत दिलाए

हर व्यक्ति को अपने जीवन व्यापन करने के लिए धन की आवश्यकता होती है। धन व्यक्ति को कमजोर कर देता है। यह इंसान की जरूरत पूर्ण नहीं बल्कि लालच को दावत देता है। परन्तु यह जरूरी नहीं की हर इंसान लालच के कारण धन की इच्छा रखे। कई परिवार को धन की आवश्यकता होती है। परन्तु पैसे की तंगी होने के कारण वह अपनी ख्वाहिश को अंजाम नहीं दे पाते।

अगर आप भी उन्हीं में से है जिन्हें पैसों के तंगी से जूझना पड़ रहा है तो आप रोज सुबह या शाम के वक्त हनुमान जी के मंदिर में जाकर सरसों के तेल का दीया मिट्टी के दीपक में जलाना चाहिए। आप मंदिर में दीया जलाने के बाद कुछ देर तक वहां बैठे और हनुमान चालीसा का भी पाठ कर लें। यह क्रिया चालीस दिन तक दोहराएं तो इसका फल जरूर मिलता है। दिया जलाने के बाद सिंदूर तिलक भी लगाना न भूलें क्योंकि हनुमान जी को सिंदूर अत्यंत प्रिय है।

 हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए अन्य उपाय

हनुमान जी को पीपल वृक्ष बेहद प्रिय हैं, अगर आप चाहते हैं कि आपकी मनोकामना जल्द पूर्ण हो तो उसके लिए आप पीपल के वृक्ष की पूजा करें अथवा पीपल के पत्ते जिसकी मात्रा 11 हो तोड़ लें, यह क्रिया शनिवार के ब्रह्म मुहूर्त में उठकर नित्य कर्मों से निवृत्त होकर करें।

वह 11 पत्ते तोड़ते हुए यह अवश्य ध्यान रखें कि कोई भी पत्ता खंडित एवं कट्टे फट्टे न हो। पत्तों को साफ पानी या गंगाजल से धो लें, फिर कुमकुम, अष्टगंध और चंदन मिलाकर इन पत्तों पर श्रीराम का नाम लिखें। नाम लिखते समय हनुमान चालीसा का पाठ करें इसके बाद श्रीराम लिखे हुए इन पत्तों की एक माला तैयार करें। तैयार पीपल के पत्तों की माला को किसी भी हनुमानजी के मंदिर में जाकर उनकी प्रतिमा को अर्पित करें। इस प्रकार यह उपाय हर मंगलवार और शनिवार को करते रहें. कुछ समय बाद आपको अच्छे परिणाम दिखने लगेंगे।


उपाय जो कराए समस्या से मुक्ति

प्रत्येक मंगलवार को पीपल के पेड़ की पूजा करने से हनुमान जी जल्दी ही प्रसन्न होते है और जातक को मालामाल कर देते है।

मंगलवार के दिन श्रद्धापूर्वक हनुमान जी की पूजा आराधना करने से बजरंगबली प्रसन्न होकर सुख-समृद्धि का आशीर्वाद देते है।

प्रत्येक मंगलवार को हनुमान जी को सिन्दूर लगाकर पूजा जाए तो समस्त दुःख-परेशानियों से जातक को मुक्ति मिलती है।

हनुमान जी को मंगलवार के दिन पान का बीड़ा नियमित रूप से चढ़ाया जाए तो नौकरी तथा व्यवसाय के मार्ग में आने वाली रुकावटें दूर हो जाती है। रोजगार के नवीन अवसर प्राप्त होते है।

मंगलवार के दिन हनुमान जी के सामने सरसों के तेल का दिया जलाएं और हनुमान चालीसा का पाठ करे, हनुमान जी ऐसा करने से बहुत जल्दी आपकी सुनते है।

हनुमान जी के मंदिर में जाकर रामरक्षास्तोत्र का पाठ करने से सारे बिगड़े काम संवर जाते है। काम में आनेवाली रुकावटें दूर हो जाती है।

मंगलवार के दिन ॐ हं हनुमंताये नमः मन्त्र का जाप करने से हनुमान जी प्रसन्न होते है।

Post a Comment

Previous Post Next Post